युवा वैज्ञानिक की खोज,अब सैंडल करेगी महिलाओं की सुरक्षा

0
105

वाराणसी। महिलाओं के साथ हो रहे दुष्कर्म और छेड़खानी के मामले को देखते हुए जहां शासन और प्रशासन की ओर से कानून प्रक्रिया को सख्त करने की कवायद चल रही है, तो वहीं दूसरी ओर वाराणसी के युवा वैज्ञानिक श्याम चौरसिया के एक अविष्कार ने सबको हैरत में डाल दिया है। शोहदों आदि को सबक सिखाने के लिए कल तक जो महिलाएं अपने सैंडल का प्रयोग करती थी, अब वहीं सैंडल फायरिंग भी करेगी और पुलिस तक उनकी आवाज भी पहुंचाएगी।

श्याम ने एक ऐसी ही सैंडल बनायी है जो न सिर्फ मुश्किल घड़ी में महिलाओं की मदद करेगी, बल्कि पुलिस और घरवालों तक उसकी आवाज को भी पहुंचायेगी। इस सैंडल को श्याम ने ‘एंटी रेप सैंडल’ का नाम दिया है। श्याम बताते हैं कि इस सैंडल की खास बात ये है कि इस सैंडल में एक बटन दिए है जो मुश्किल घड़ी में दो बार दबाने पर मोबाइल में सेट किये गए नम्बर पर कॉल करेगा। इस सैंडल की एक खास बात ये भी है कि इस सैंडल से महिलाएं फायरिंग भी कर सकती हैं।

क्या कहते हैं युवा वैज्ञानिक श्याम चौरसिया
श्याम बताते हैं कि भी हमने एंटी रेप सैंडल बनाया है जो महिलाओं की सुरक्षा के लिए है। जिस प्रकार से देश में महिलाओं के साथ दुष्कर्म आदि घटना हो रहे हैं, ऐसे में उनकी सुरक्षा बेहद जरूरी है। क्योंकि महिलाओं को रात में बाहर नौकरी कर घर आते समय काफी समस्याओं का सामना करना पड़ता है और जिस प्रकार का देश में माहौल है। उसमें वह काफी डरी हुई भी रहती है। इसलिए महिलाओं की हम टेक्निकली रूप से मदद करने के उद्देश्य से इस सैंडल का निजात किया गया है। हालांकि यह जरूरी है कि गवर्मेंट को आगे आकर इन चीजों को बढ़ावा देना चाहिए। मेकिंग इंडिया को प्रमोट करने की बात होती है, लेकिन ऐसे अविष्कारों को सपोर्ट नहीं मिल पाता। हमारे देश में ऐसे कई युवा वैज्ञानिक हैं जो बहुत कुछ कर सकते हैं, बस जरूरत है तो उनको बढ़ावा देने की। हम चाइना से तो चीजों को खरीद लेते हैं लेकिन अपने यहां के अविष्कारकों को नहीं पूछते, यह दुर्भाग्य का विषय है।