अपना प्रदेश

VARANASI: आखिर क्यों छोड़ गयी मां मुझको अनाथ… 

वाराणसी। एक तरफ जहां बेटियों को बेटों के बराबर का दर्जा दिया जा रहा है, वहीं अब भी कहीं ना कहीं बेटियों का मोल लोगों की नजर में ना के बराबर ही है। ताजा मामला मडुवाडीह थानाक्षेत्र के शिवदासपुर रेड लाइट एरिया के पास का है जहां एक नवजात बच्ची को सड़क के किनारे पर कोई छोड़कर चला गया। जिसके बाद बच्ची की रोने की आवाज को सुनकर लोग वहां इकठ्ठे हुए और एक महिला ने उस बच्ची पर अपनी ममता का हाथ रख दिया, फिर क्या हुआ जाने पूरी घटना। 

आज जहां बेटियां अपने हुनर से हर क्षेत्र मेंं बुलंदी को छू रहीं हैं वहीं दूसरी तरफ बेटियों को लेकर अब भी लोगों की मानसिकता में शायद पूरी तरह से बदलाव नहीं आ पाया है। बता दें कि बुधवार की अल सुबह मडुवाडीह थानाक्षेत्र के शिवदासपुर रेड लाइट एरिया के पास लावारिस हाल में एक बच्ची पड़ी मिली। बच्ची के रोने की आवाज़ को सुनकर लोग वहां इकठ्ठे हो गए। वहीं एक महिला को बच्ची का रोना इतना पिघला दिया कि उसने उस बच्ची को अपनी गोद में उठा लिया और उसके सिर पर ममता का हाथ फेरने लगी। ताजुब्ब की बात ये है कि एक मां जिसने उस बच्ची को जन्म के बाद सड़क के किनारे छोड़ने में थोड़ा भी नहीं सोची वहीं उस दूसरी महिला ने उस बच्ची को अपनी गोद में जगह दे दी।

बच्ची के पास ही एक कार्ड भी मिलने की बात बताई जा रही है,अगर ये कार्ड सही है तो इसपर अंकित नाम और पते के माध्यम से बच्ची के रेड लाइट एरिया तक पहुंचने की रहस्यभरी दास्तां पर से पर्दा उठ सकता है। बहरहाल इस मामले की जांच पुलिस जब तक नहीं करती, तब तक कुछ भी नहीं कहा जा सकता है। पुलिस ने बच्ची को अपनी कस्टडी में लेकर चाइल्ड लाइन संस्था को उसकी देखरेख के लिए सौंप दिया है।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top