कब और क्यों मनाया जाता है World Cancer Day, क्या हैं इसके लक्षण और उपाय

0
79

ब्यूरो रिपोर्ट। हर साल चार फरवरी को विश्व कैंसर दिवस के रुप में मनाया जाता है। पहली बार विश्व कैंसर दिवस 1993 को मनाया गया था। देश में महिलाओं को होने वाले कैंसर में ब्रेस्ट कैंसर के मामले सबसे ज्यादा हैं। 2018 में सिर्फ ब्रेस्ट कैंसर के ही 1 लाख 62 हजार 468 नए मामले सामने आए और 87,090 मौते हुईं। अंतरराष्ट्रीय कैंसर नियंत्रण संघ ने जिनेवा में पहली बार कैंसर दिवस मनाया। 4 फरवरी 2000 को कैंसर के खिलाफ विश्व कैंसर सम्मेलन हुआ जहां यह तय हुआ कि हर साल चार फरवरी को कैंसर के खिलाफ जागरुकता फैलाने के लिए इस दिवस को मनाया जाएगा। यह सम्मेलन पेरिस में हुआ था।

इसबार विश्व कैंसर दिवस की थीम आई एम एंड आई विल रखी गयी है। बता दें कि ब्रेस्ट कैंसर सबसे खतरनाक कैंसर में से एक माना गया है। ये ज्यादातर महिलाओं को होता है। ब्रेस्ट कैंसर में कैंसर सेल्स ब्रेस्ट के टिश्यूज में बनती है और यही आगे चलकर ब्रेस्ट कैंसर की वजह बनती है। यही टिश्यूज धीरे-धीरे पूरे शरीर में फैल जाता है। चलिए जानते हैं की ब्रेस्ट कैंसर के क्या लक्षण और उससे बचने के उपाय हम आपको बातएंगे।

क्या है ब्रेस्ट कैंसर के लक्षण :
ब्रेस्ट के आस- पास गांठ का उभरना।
इसके आकर में बदलाव का होना,दर्द होना।
ब्रेस्ट में सूजन और लालपन आना।

ब्रेस्ट कैंसर के क्या कारण है : 
वजन का ज्यादा बढ़ना। समय से पहले मासिक धर्म का शुरू होना।
बच्चे पैदा नहीं करना।
ज्यादा उम्र में पहला बच्चा पैदा होना।

ब्रेस्ट कैंसर रोकने के उपाय :
खाने में नमक का ज्यादा इस्तेमाल नहीं करना।
शराब के ज्यादा सेवन से बचना चाहिए।
सूरज की तेज से बचना चाहिए।
गर्भनिरोधक गोलियों का लगातार सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना जरुरी है।

अगर इनमें से कुछ भी लक्षण मिलते दिखाई दें तो तुरंत परामर्शदाता से सम्पर्क कर के परामर्श लेना ही हितकर है। अगर समय रहते इस समस्या का इलाज करा लिया जाये तो आप अपनी जिंदगी को बचने में कामयाब हो सकती हैं।