अपना प्रदेशगाजीपुरप्रशासन

VARANASI: क्या है ‘पुलिस झंडा दिवस’ का महत्व, बताया कप्तान ने

वाराणसी। यूपी पुलिस के इतिहास में 23 नवम्बर का दिन विशेष महत्व रखता है। इस दिन को ‘पुलिस झंडा दिवस’ के रूप में मनाया जाता है। 23 नवम्बर 1952 के बाद प्रति वर्ष सैनिक कल्याण के लिए झंडे के स्टीकर जारी किए जाते हैं। वाराणसी पुलिस लाइन में ध्वजारोहण के बाद एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने कहा कि यह तिथि पुलिस के लिए ऐतिहासिक है। यह ध्वज पुलिस के गौरवशाली अतीत का जीवंत प्रतीक है।

बता दें कि सुबह पुलिस लाइन परिसर में एसएसपी ने ध्वजारोहण के बाद उपस्थित पुलिस कर्मियों को पुलिस झंडा दिवस के महत्व के संबंध में बताया। एसएसपी ने कहा कि हमें गर्व के साथ धैर्य पूर्वक न्यायपूर्ण कार्य करते हुए पुलिस विभाग की छवि को अच्छा बनाना है। पुलिस ध्वज की गरिमा को बढ़ाना है। वहीं जिले के सभी थाना प्रभारियों ने भी अपने-अपने थाने में झंडा दिवस के मौके पर ध्वजारोहण किया और पुलिस झंडे को सलामी दी।

पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों द्वारा पुलिस ध्वज का प्रतीक पुलिस कलर स्टीकर वर्दी की बांई जेब के ऊपर लगाया जाता है। प्रदेश के डीजीपी मुख्यमंत्री के सीने पर पुलिस कलर लगा कर बधाई देते हैं। इस दीन डीजीपी का संदेश प्रदेश भर में जिला स्तर पर सभी अधिकारियों द्वारा अपने अधीनस्थों को सुनाया जाता है। ध्वजारोहण कार्यक्रम में मुख्य रूप से पुलिस अधीक्षक ग्रामीण मार्तंड प्रकाश सिंह,आरआई प्रथम संदीप कुमार राय,आरआई द्वितीय अनुपम सिंह, मेजर कन्हैया राय उपस्थित रहे।

Tags
Show More

Related Articles

Leave a Reply

Back to top button