धर्म / ज्योतिष

क्या है मूंगा रत्न और इससे होने वाले लाभ, जानिए 

ब्यूरो डेस्क। मूंगा एक रत्न है जिसे लोग धारण करते हैं। क्या आपको ये मालूम है कि ये हकीकत में पत्थर नहीं बल्कि एक जैविक लकड़ी है जो हमें समुद्र के अंदर से प्राप्त होती है। जिसे साफ-सफाई व पॉलिश कर तराशा जाता है, जिसके बाद इसे दो शक्लों में आकार दिया जाता है। एक ओवल यानी केप्सूल साइज व दूसरा तिकोना मूंगा। ये दो ही आकार में मूंगा बहुतायत से मिलता है।

ज्योतिष में मूंगा को मंगल का रत्न माना गया है। मंगल साहस, बल, ऊर्जा का कारक, पेट्रोल पंप, गैस एजेंसी, पहलवानी, सुरक्षा से संबंधित कार्य करने वाले, सेना, पुलिस, राजनीति, ईंट-भट्टे के कार्य, जमीन-प्रापर्टी से संबंधित कार्य, बिर्ल्डर व बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर, खून की जांच, ब्लड से संबंधित लेबोरेटरी आदि कार्यों का प्रतिनिधित्व करने वाला ग्रह है। ये सभी कार्य मंगल के अन्तर्गत आते हैंं, जो लोग इस तरह के कार्यो से जुड़े हैं वह मूंगा धारण कर सकते हैं  लेकिन अगर मंगल आप की पत्री में अच्छे घरों का मालिक है तभी मूंगा को धारण करना आपके लिए लाभदायक सिद्ध होगा  ।

इन राशियों के लिए है फायदेमंद मूंगा 

मेष तथा वृश्चिक राशि के जातकों के लिए मूंगा रत्न, सबसे बेहतरीन माना जाता है। इन राशियों को मूंगा धारण करने से बहुत लाभ मिलता है।

मूंगा धारण करने से होने वाले फायदे

मूंगा धारण करने से नज़र नहीं लगती है और भूत-प्रेत का डर नहीं रहता है।

आत्मविश्वास तथा सकारात्मक सोच में वृद्धि होती है।

आकर्षण शक्ति बढ़ती है तथा लोगों का देखने का नजरिया बदलता है।

स्वास्थ्य की दृष्टि से होने वाले मूंगा से लाभ 

मूंगा रत्न को धारण करने से रक्त संबंधित सभी समस्याएं समाप्त हो जाती हैं।

जो जातक हृदय रोगों से ग्रस्त हैं उन्हें मूंगा धारण करना चाहिए।

मिर्गी तथा पीलिया रोगियों के लिए यह रत्न उत्तम साबित माना गया है।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top