अपना प्रदेश

48 घंटे के भीतर चाइनीज सामानों को बेचना करें बंद, नहीं तो भुगतने होंगे गंभीर परिणाम- अरुण पाठक

वाराणसी। LAC पर भारत-चीन में बढ़ते तनाव के बीच 20 जवानों की शहादत का दंश देश झेल रहा है। ऐसे में हर किसी के अंदर चीन के खिलाफ गुस्सा भरा पड़ा है। देश में अब चाइनीज सामान का बहिष्कार होना शुरू हो गया है। वाराणसी में विश्व हिंदू सेना अब चाइना के खिलाफ खड़ी हो चुकी है। विश्व हिंदू सेना ने एक पोस्टर जारी किया है और कहां है कि चाइना आयातित सामानों की बिक्री को तत्काल बंद कर दिया जाए, नहीं तो गंभीर परिणाम भुगतने होंगे। विश्व हिंदू सेना ने पोस्टर शहर के अलग-अलग इलाकों में चस्पा किया है और व्यापारियों से यह मांग की है कि चाइनीज सामान बेचना बंद करें। इसके लिए 48 घंटे की मोहलत दी गई है।

विश्व हिंदू सेना के राष्ट्रीय अध्यक्ष अरुण पाठक ने बताया कि चाइना हर मुद्दे पर भारत का विरोध करता है और पाकिस्तान जैसे आतंक के आका को सपोर्ट करता है। वह पाकिस्तान की मदद करके भारत में आतंकवाद को बढ़ावा दे रहा है। चीन ने यूएन में अस्थाई सदस्यता के मामले में भी भारत का विरोध किया। हाल में ही गलवान घाटी में धोखे से भारतीय सेना के सैनिकों पर वार किया और 20 जवानों को मौत के घाट उतार दिया। देश इस शहादत को भूलने वाला नहीं है और अब देश में कहीं पर भी चाइना से आयातित सामान की बिक्री नहीं होगी।

अरुण पाठक ने कहां की चाइना सिर्फ भारत को ही परेशान नहीं करता बल्कि हांगकांग, ताइवान और तिब्बत में बरसों से वहां के नागरिकों पर अत्याचार करके यह साबित कर दिया है कि वह मानवता का ही दुश्मन है। कोरोनावायरस पूरे विश्व में फैला कर लाखों लोगों की जान लेने वाला चाइना इसका गंभीर परिणाम भूगतेगा। चाइना जब तक भारत की एक-एक इंच जमीन को वापस नहीं कर देता तब तक चाइना में निर्मित सामानों का बहिष्कार करना होगा। देश के नागरिकों से उन्होंने अनुरोध किया चाइनीज सामानों का बहिष्कार कर वीर शहीदों को सच्ची श्रद्धांजलि दें। इसके साथ ही उन्होंने व्यापारियों को 48 घंटे का अल्टीमेटम देते हुए कहा है कि जल्द से जल्द चाइनीज सामानों को बेचना बंद करें नहीं तो गंभीर परिणाम भुगतने होंगे।

Most Popular

To Top