VARANASI : समीक्षा बैठक में सहायक अभियंता को पड़ी DM की फटकार

0
33

वाराणसी। जिलाधिकारी कौशलराज शर्मा ने जल संरक्षण के लिए विभागीय स्तर से कहां और कौन—कौन से स्ट्रक्चर बनाए गये हैं और उन पर कितनी धनराशि खर्च हुई। साथ ही कितने स्ट्रक्चर अभी बनने बाकी हैं, उन सभी का सत्यापन कराने का निर्देश दिया है।

यह निर्देश जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने मंगलवार को विकास भवन के सभा कक्ष में जल शक्ति अभियान की बैठक के दौरान अधीनस्थों को दिया। साथ ही उन्होंने जल संरक्षण अभियान के तहत वाटर कंजर्वेशन एंड रेन वाटर हार्वेस्टिंग, रिनोवेशन ऑफ ट्रेडिशनल वाटर बॉडीज, इंटीग्रेटेड वॉटर शेड मैनेजमेंट, रीयूज ऑफ रिचार्ज स्ट्रक्चर तथा अफॉरेस्टेशन की समीक्षा की।

जिलाधिकारी ने इस दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में बनाये गये जल संरक्षण के स्ट्रक्चरों की विस्तृत रिपोर्ट भी प्रस्तुत करने का निर्देश दिया। नगर निगम के द्वारा शहरी क्षेत्र में कितने वाटर बाडीज़ का संंरक्षण किया गया और कितना अवशेष है। कितनी धनराशि व्यय की गई। 15 जनवरी 2020 तक सभी विभागों से अब तक कराये कार्य की रिपोर्ट उपलब्ध कराने व आगे की कार्ययोजना तैयार कर प्रस्तुत करने का निर्देश दिया।

जिलाधिकारी ने शहरी क्षेत्र के नोडल, लघु सिंचाई विभाग विभाग के सहायक अभियंता विपिन कुमार मिश्रा को विभागीय कार्य में लापरवाही और पद से सम्बंधित कार्यों की जानकारी न होने पर गहरी नाराजगी जताते हुए फटकार लगाया और तीन दिनों का समय देते हुए कारण बताओ नोटिस देने का निर्देश दिया। वाराणसी विकास प्राधिकरण के अधिकारी से रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम के साथ कितने नक्शे पास किये, कितना लक्ष्य है तथा इस मद में कितना पैसा जमा हुआ तथा कितना खर्च हुआ विस्तृत रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।