अपना प्रदेश

नजीर: DM वाराणसी, व्यस्तता के बाद भी निभाते रहते हैं सामाजिक सरोकार

वाराणसी। टीबी से ग्रसित मरीजों के लिए वाराणसी के प्रशासनिक अधिकारी मसीहा बनकर उनकी देख भाल कर रहे हैं। जिले में टीबी से ग्रसित लोगों को प्रशासनिक अधिकारियों ने उनके स्वस्थ होने तक गोद लिया है। इसी कड़ी में वाराणसी के जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने भी इंग्लिशिया लाइन के रहने वाले एक बच्चे को गोद लिया है और उसकी देखभाल कर रहे हैं। बच्चे को जिलाधिकारी ने मंगलवार अपने निवास स्थान बुलाया और उसे खाने पीने की चीजें दी।

जिला प्रशासन के अधिकारी इन दिनों टीबी के मरीजों के लिए मसीहा बने हुए हैं। अधिकारी ऐसे मरीजों को चिन्हित कर बीमारी के इलाज तक गोद लेकर उनकी संपूर्ण इलाज की व्यवस्था करते हैं। वाराणसी के डीएम कौशल राज शर्मा ने भी इंग्लिशिया लाइन निवासी एक बच्चे को उसके इलाज हो जाने तक गोद लिया है। इसके साथ ही उसके संपूर्ण इलाज तक उसकी देखभाल करने का निश्चय किया है। मंगलवार को बच्चा अपने पिता के साथ डीएम के कैम्प कार्यालय उनसे मुलाकात करने गया था। इस दौरान उसे डीएम ने खाने पीने की चीजें भेंट की।

जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा ने बताया कि वह टीबी से ग्रसित है। उसके सम्पूर्ण इलाज तक उसकी देखभाल करने के लिए उन्होंने गोद लिया है। उन्होंने बताया कि जिला प्रशासन के कई अधिकारियों ने ऐसे ही टीबी के मरीजों को उनके सम्पूर्ण इलाज हो जाने तक गोद लिया है और देख भाल कर रहे हैं। आज बच्चा मिलने आया था, इस दौरान उसे बोर्नविटा, ड्रिंक्स, चॉकलेट, मास्क, सैनिटाइजर और कपड़े दिए गए हैं। नवंबर माह से उसका इलाज चल रहा है।

Most Popular

To Top