अपना प्रदेश

15 हजार के इनामिया बदमाश चढ़े STF के हत्थे, इस मामले में हुई गिरफ्तारी

वाराणसी। यूपी एसटीएफ की वाराणसी यूनिट को बड़ी सफलता मिली है। उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग द्वारा आयोजित एलटी ग्रेड शिक्षक भर्ती परीक्षा में धांधली के मामले में फरार चल रहे दो आरोपियों को एसटीएफ ने धर दबोचा है। गिरफ्तारी वाराणसी के चोलापुर थाना क्षेत्र के आयर बाजार से हुई है। प्रतियोगी परीक्षाओं के परिणाम में धांधली करने वाले गिरोह के दो सदस्यों को वाराणसी एसटीएफ ने गिरफ्तार किया है। परीक्षा में धांधली की शिकायत मिलने के बाद जांच एसटीएफ को सौंपी गई थी, जिसमें एसटीएफ ने कार्रवाई करते हुए आयर बाजार स्थित महावीर मंदिर के पास चोलापुर से आरोपियों को धर दबोचा।

एसटीएफ ने मुखबिर की सूचना पर दोनों आरोपी अजीत चौहान और अजय चौहान को गिरफ्तार किया है, जो जौनपुर के रहने वाले हैं। इनके पास से दो मोबाइल भी बरामद हुआ है। पूछताछ के दौरान आरोपियों ने बताया कि पेपर लीक करने की डील 11 लाख रुपए में होती थी। एडवांस के तौर पर सभी से 1 लाख रुपये ले लिए जाते थे। इसके साथ ही परीक्षा में प्रत्येक विषय में 150-150 प्रश्न पूछे जाते हैं, जिसमें से 120 प्रश्नों के उत्तर वह परीक्षार्थियों को याद करवा देते थे। एलटी ग्रेड 2018 परीक्षा पेपर लिक मामले में परीक्षा के 1 दिन पहले संबंधित अभ्यर्थियों को वाराणसी के यूपी कॉलेज गेट के पास बुलाया गया था और वहीं से सभी को चोलापुर थाना क्षेत्र के दक्षिणी गांव में स्थित सेंटर पर ले जाया गया। अगले दिन होने वाली परीक्षा के हिंदी व सामाजिक विषय का प्रश्न पत्र सभी अभ्यार्थियों को रखवाया गया था।

काफी लंबे समय से एलटी ग्रेड भर्ती परीक्षा में हो रही धांधली का पर्दाफाश करने के लिए एसटीएफ प्रयासरत थी, पूर्व में इस मामले में आयोग की एग्जाम कंट्रोलर अंजू कटियार भी आरोपी है और उसे गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है। पकड़े गए अजीत चौहान और अजय चौहान के उपर 15-15 हजार रुपये का इनाम भी रखा गया था।

Most Popular

To Top