वाराणसी

आज की प्रशासनिक गतिविधि: पीएम मोदी के दौरे को लेकर सीएम पहुंचे काशी, किये ताबड़तोड़ निरीक्षण, सीएम के दूत ने भी दिया जरूरी दिशा निर्देश

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन को देखते हुए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज उनके संभावित दौरे वाले स्थानों पर निरीक्षण किया। इस दौरान उन्होंने अधिकारियों को जरूरी दिशा निर्देश भी दिया है। 30 नवंबर को पीएम अपने एक दिवसीय दौरे पर वाराणसी आ रहे हैं। वहीं उत्तरप्रदेश के मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी और अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल भी काशी पहुंचे और विभिन्न स्थानों का निरीक्षण किया।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ आज अपने एक दिवसीय दौरे पर वाराणसी पहुंचे। यहां उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के आगमन को देखते हुए विभिन्न स्थानों का निरीक्षण किया। प्रधानमंत्री 30 नवंबर को वाराणसी आ रहे हैं। उसके पहले सीएम योगी शुक्रवार को राजघाट और उसके बाद काशीविश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर की तैयारियों को देखने के बाद डोमरी गांव पहुंचे। प्रधानमंत्री के जनसभा स्थल और सारनाथ में निरीक्षण करने के बाद सर्किट हाउस पहुंचे। सीएम ने जिले के अधिकारियों संग बैठक कर विकास कार्यों की रिपोर्ट जानी। इसके साथ ही उन्होंने पीएम के संभावित दौरे को देखते हुए पूरी जानकारी मांगी।

आगामी 30 नवंबर को देव दीपावली पर्व पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी प्रस्तावित आगमन के दृष्टिगत उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को वाराणसी का भ्रमण कर किये जा रहे तैयारियों एवं व्यवस्थाओं का स्थलीय निरीक्षण कर संबंधित अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ हेलीकॉप्टर से सर्वप्रथम राजातालाब के खजूरी कार्यक्रम स्थल पर पहुंचे, जहां पर प्रधानमंत्री जी की होने वाली जनसभा एवं एनएचआई के 6 लेन सड़क चौड़ीकरण परियोजना के लोकार्पण कार्यक्रम की व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। सभा स्थल पर पंडाल के बारे में तथा वीआईपी, पदाधिकारियों व अन्य लोगों के बैठने आदि की पूरी जानकारी ली। इस दौरान उन्होंने लोगों के कार्यक्रम स्थल पर इंट्री एवं निकास आदि के बारे में पूरी जानकारी ली। मुख्यमंत्री ने सुरक्षा व्यवस्था के बारे में भी विस्तार से जानकारी लेते हुए पुख्ता एवं चाक-चौबंद सुरक्षा व्यवस्था सुनिश्चित कराए जाने हेतु संबंधित अधिकारियों को निर्देशित किया।
खजूरी के उपरांत मुख्यमंत्री हेलीकॉप्टर से गंगा उस पार बने डोमरी हेलीपैड पर पहुंचे तथा वहां से क्रूज से गंगा पार कर देव दीपावली पर्व के मुख्य कार्यक्रम स्थल राजघाट पहुंच कर वहां पर आने वाले लोगों के बैठने, सुरक्षा व्यवस्था के साथ-साथ प्रधानमंत्री द्वारा किए जाने वाले दीपदान आदि कार्यक्रमों के बारे में अधिकारियों के साथ विस्तार से चर्चा कर जानकारी ली। तत्पश्चात क्रूज के माध्यम से श्री काशी विश्वनाथ मंदिर कॉरिडोर पहुंच कर कॉरिडोर निर्माण के प्रगति के साथ-साथ प्रधानमंत्री के कार्यक्रम के बाबत वहां की तैयारियों का जायजा लेने के पश्चात मुख्यमंत्री ने क्रूज से राजा चेत सिंह किला जहां से देव दीपावली पर्व पर काशी महिमा एवं शिव महिमा से संबंधित लेजर शो होना है का भी निरीक्षण करते हुए अस्सी स्थित रविदास घाट पहुंचे।
तत्पश्चात उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने सर्किट हाउस सभागार में अधिकारियों के साथ बैठक कर आगामी 30 नवंबर को देव दीपावली पर्व पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के वाराणसी आगमन से संबंधित अब तक किए गए तैयारियों की विस्तार से समीक्षा की।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि अच्छी तैयारी है। जीरो इंटर के साथ प्रधानमंत्री का कार्यक्रम संपन्न कराएं। काशी का राष्ट्र व अंतरराष्ट्रीय स्तर पर विशेष महत्व है। काशी में धार्मिक, आध्यात्मिक, शैक्षणिक पर्यटन की दृष्टि से लोग आते हैं। यहां का संदेश विश्व में जाता है। प्रधानमंत्री 9 माह बाद काशी आ रहे हैं, इस सदी का सबसे बड़ा आपदा प्रबंधन प्रधानमंत्री की दिशा-निर्देशों में देश में जिस सफलता से हुआ, इसका पूरा विश्व लोहा मानता है। अयोध्या में राम मंदिर का कार्य बढ़ा है। अयोध्या का दीपोत्सव के साथ काशी की देव दीपावली का भव्य कार्यक्रम और भी महत्वपूर्ण बन जाता है। ऐसे अवसर पर कोविड-19 की जागरूकता को भी बराबर लाउडस्पीकर आदि से सतत बनाए रखा जाए। प्रधानमंत्री की प्राथमिकता में स्वच्छता है, अतः पूरा काशी नगर से लेकर गांव तक विशेष सफाई व्यवस्था हो। मुख्यमंत्री ने सुझाव दिया कि संत रविदास की मूर्ति पर पुष्पांजलि करने के कार्यक्रम को भी जोड़ने की व्यवस्था की जाए।
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि सुरक्षा की दृष्टि से हर स्तर पर सतर्कता रखी जाए। काशी का बहुत बड़ा आयोजन है। अति विशिष्ट जनों को निकलने के बाद आमजन को सुविधा से आवागमन कराया जाए। जाम की स्थिति नहीं बनी, इसकी बेहतर व्यवस्था कर ली जाए। प्रधानमंत्री का इस अवसर पर आगमन हम सभी के लिए सौभाग्य की बात है। सदी का सबसे बड़ा आपदा प्रबंधन कार्य भारत में हुआ है, यह पूरा विश्व मान रहा है।
देव दीपावली पर 15 घाटों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। 7.5 किमी0 लंबे घाट पर दीपों के मध्य लाइट की झालरों से जगमग होंगे। गंगा के दूसरे और 3000 वलियों पर लाइट की झालर जगमग होगी। गंगा के दोनों किनारे दीयों के झालरों, फसाड लाइटों आदि से प्रकाशमान होंगे। रेत पर 16 जगह कलाकृतियां फसाड लाइट व डेकोरेट होंगे। देव दीपावली के अवसर पर प्रधानमंत्री के आगमन के समस्त कार्यक्रम का सजीव प्रसारण होगा। इसके लिए जगह-जगह एलईडी लगेंगे। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस बात के भी संकेत दिए कि कार्यक्रम में विभिन्न बाधा पहुंचाने का प्रयास करने वालों पर निगाह रखी जाए और उस पर प्रभावी कार्यवाही प्रोएक्टिव होकर करें। किसी भी स्थिति में बैकफुट पर नहीं रहे। अच्छी तैयारियां की गई है। काशी विशेष है। प्रधानमंत्री का आगमन हम सभी का सौभाग्य है। काशी के इस बड़े देव दीपावली आयोजन ऐतिहासिक व रिकॉर्डबिल भव्यता दी जाए।
बैठक में कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने पूरे कार्यक्रम की व्यवस्थाओं की तैयारियों की रूपरेखा प्रस्तुत की। अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव पर्यटन व संस्कृति, पुलिस ने अपने से संबंधित कार्यो की रूपरेखा प्रस्तुत की।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गत 09 नवंबर को लोकार्पित किये गये लाइट एंड साउंड सिस्टम का शुक्रवार को उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ में स्वयं दृश्यावलोकन कर मंत्रमुग्ध हो गये। अमिताभ बच्चन की आवाज में बुद्धम शरणम गच्छामि, धम्मम शरणम गच्छामि मंत्रों के साथ लाइट एंड साउंड का शुभारंभ हुआ।
पुरातात्विक खंडहर परिसर में लाइट एंड साउंड सिस्टम शो 7 करोड़ 88 लाख रुपये की लागत से पर्यटन विभाग की स्वर्णिम योजना में शुमार हैं। इस अवसर पर पर्यटन मंत्री डॉ0 नीलकंठ तिवारी एवं स्टांप मंत्री रविंद्र जायसवाल, अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहगल, कमिश्नर दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा सहित अन्य अधिकारी प्रमुख रूप से उपस्थित रहे।


प्रधानमंत्री के आगामी 30 नवंबर 2020 देव दीपावली पर्व पर आगमन के दृष्टिगत रखते रखते हुए योगी आदित्यनाथ के दूत के रूप में अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार अवस्थी अपर मुख्य सचिव नवनीत सहगल ने शुक्रवार को तूफानी दौरा करें वाराणसी में किए जा रहे तैयारियों का स्थलीय जायजा लिया। मौके पर मौजूद अधिकारियों को सुरक्षा व्यवस्था एवं अन्य व्यवस्थाओं के संबंधित आवश्यक दिशा निर्देश दिए।

कमिश्नर दीपक अग्रवाल ने अधिकारियों को अब तक किए गए व्यवस्था एवं सुरक्षा व्यवस्था के बाबत विस्तार से जानकारी दी। अधिकारियों ने श्री काशी विश्वनाथ कॉरिडोर एवं वहां ललिता घाट से राजघाट तक मोटर बोट के द्वारा पूरे व्यवस्थाओ का जायजा लिया। निरीक्षण के दौरान अधिकारियों की घाट पर चप्पे-चप्पे पर नजर रहीं।


सीढ़ी पर छोटा सा दुकान लगाकर माला, फूल, दीपक बेच रही आशा के पास अपर मुख्य सचिव गृह एवं अपर मुख्य सचिव सूचना अचानक पहुंचकर बूड़ी विक्रेता आशा का हालचाल जाना। राजघाट गंगा की सीढ़ी पर छोटा सा दुकान लगाकर माला, फूल, दीपक बेच रही आशा के पास अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश कुमार एवं अपर मुख्य सचिव सूचना नवनीत सहंगल अचानक पहुंचकर बूड़ी विक्रेता आशा का हालचाल जाना तथा कोरोना के बाद अब उनके आय के संबंध में आवश्यक जानकारी।

Most Popular

To Top