वाराणसी

कोरोना अपडेट: वाराणसी के इस स्कूल ने पेश की नजीर, बड़े शिक्षण संस्थानों को दी नसीहत

वाराणसी। कोरोना वायरस ने पूरी दुनिया की कमर तोड़ कर रख दी है। वायरस के प्रकोप से बचने के लिए भारत में 3 मई तक लॉक डाउन किया गया ताकि लोग सुरक्षित रह सकें। ऐसे में इमरजेंसी सेवाओं को छोड़कर के बाकी सभी सेवाओं को बंद कर दिया गया है। कारोबार के साथ साथ शिक्षा विभाग ने भी सभी स्कूलों को बंद रखने का निर्देश जारी किया है। ऐसे में शहर के नामी गिरामी स्कूल फीस को लेकर बच्चों के अभिभावकों से ऑनलाइन फीस जमा करने का निवेदन कर रहे हैं। वही एक ऐसा भी स्कूल सामने आया है जिसने बच्चों की 3 महीने की फीस माफ कर दी है और आर्थिक रूप से कमजोर बच्चों के परिजनों की मदद के लिए भी कहा है।

लॉक डाउन की वजह से सरकार ने सभी स्कूलों को बंद करवा दिया है। ऐसे में बड़े बड़े शिक्षण संस्थानों की मोटी कमाई पर अंकुश लग गया है। सरकार ने ये भी आदेश जारी किया है कि फीस के नाम पर कोई भी स्कूल किसी बच्चे को या उसके परिजन को प्रताड़ित नही करेगा। ऐसे में कई स्कूल ऐसे भी है जो फीस के साथ साथ ट्रांसपोर्ट चार्ज भी लगाकर परिजनों से ऑनलाइन जमा करने की बात कह रहे हैं। इस बीच शहर के एक छोटे से स्कूल ने एक नजीर पेश करते हुए उन सभी को आइना दिखाने का काम किया है जो फीस के नाम पर लोगों को लूटने का काम कर रहे हैं। पांडेयपुर के नई बस्ती से संचालित होने वाले पुष्पा सीटी प्राइड स्कूल ने एक नोटिस जारी किया है कि सभी बच्चों की अप्रैल, मई और जून माह की फीस माफ की जाती है। इसके साथ ही जिन बच्चों के परिजन आर्थिक तंगी से गुजर रहे हैं वो विद्यालय से संपर्क कर सकते है। विद्यालय उनकी आर्थिक रूप से मदद भी करेगा। यह नोटिस बाकायदा नोटिस बोर्ड पर चस्पा कर बच्चों के परिजनों को भी भेजा गया है। एक छोटे से स्कूल की यह पेशकश बड़े-बड़े शिक्षण संस्थानों के मुंह पर तमाचा है जिन्होंने फीस के नाम पर छात्रों से लाखों रुपए वसूल लिए और कोरोना वायरस जैसी महामारी से लड़ने के लिए ₹1 भी दान में नहीं दिए हैं। दान की बात तो छोड़ दीजिए बड़े-बड़े शिक्षण संस्थानों ने लॉक डाउन के बाद छात्रों के परिजनों से फीस माफ करने की नही बल्कि फीस जमा कराने की बात कही है।

आपदा के इस काल में स्कूल के इस निर्णय का अभिभावकों ने स्वागत किया है। इसके साथ ही लोगों ने स्कूल के प्रति आभार भी व्यक्त किया है। स्कूल के प्रिंसिपल वाचस्पति श्रीवास्तव ने बताया कि वैश्विक महामारी के बीच यह हमारे नैतिक कर्तव्य के साथ जिम्मेदारी भी बनती है कि देश सेवा में फीस माफी अभिभावकों को आर्थिक चुनौतियों से निपटने में अपना अमूल्य सहयोग प्रदान करेगी और जो अभिभावक आर्थिक तंगी के शिकार हैं उनके लिए हमारी संस्था, पुष्पा फाउंडेशन द्वारा विशेष आर्थिक मदद इस आपदा से उबरने में उनको सहयोग प्रदान करेगी ।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top