मुख्यमंत्री से सम्मानित हुआ मऊ का यह किसान, जानिए क्यों?

0
133

रिपोर्ट- महितोष मिश्र

मऊ। प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 31 किसानों को उन्नत खेती के लिए बीते सोमवार को सम्मानित किया था। इनमें से एक किसान यूपी के जनपद मऊ के रहने वाले हैं। कोपागंज क्षेत्र लाड़नपुर ग्राम के रहने वाले किसान आशीष कुमार राय इस सम्मान को पाकर काफी उत्साहित हैं। पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की 117वीं जयंती पर उन्हें प्रदेश स्तर पर कृषि विभाग की तरफ से मुख्यमंत्री के हाथों 50 हजार रूपए का चेक और प्रशस्ति पत्र दिया गया है।

बता दें कि किसान आशीष कुमार राय की गिनती जिले के प्रगतिशील किसानों की श्रेणी में होती है। वह समय-समय पर अपने खेतों में नए-नए प्रयोग करते रहते हैं। उन्होंने रबी वर्ष 2018-19 व खरीफ 2019 में विशेष किस्म के चने की खेती थी। जो आसपास के क्षेत्रों में काफी चर्चा का विषय भी बनी थी। चने की इस प्रजाति का नाम है एचसी-5 जिसके क्राप कटिंग के आधार पर 40- 40 कुतंल प्रति हेक्टेयर उत्पादन के लिए उन्हें मुख्यमंत्री द्वारा राज्य स्तरीय फसल प्रतियोगिता में तृतीय स्थान प्राप्त करने के लिए सम्मानित किया गया था।

पिछले वर्ष आशीष कुमार राय अपने एक एकड़ खेत में चने के उन्नत किस्म एचसी-5 की खेती की थी, जिसमें 16 कुतंल से ज्यादा चने का उत्पादन हुआ था। एक तरफ ज्यादातर किसान पारंपरिक खेती में भरोसा रखते है और जागरुकता के अभाव में वैज्ञानिक खेती पर ध्यान कम ही देते हैं। मगर प्रगतिशील किसानों की श्रेणी में गिने जाने वाले किसान आशीष समय-समय पर अपने खेतों में नए प्रयोग करते रहते हैं।

किसान आशीष राय ने बताया कि एचसी-5 किस्म का चना हरियाणा से लाया था। इस चने की जानकारी फेसबुक पर से मिली थी, तो वो इसे लाने के लिए हरियाणा चले गए। वहां उन्होंने आईएआरआई के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ विरेन्द्र लाठर से संपर्क साधा और इस एचसी-5 के बीज प्राप्त किए। वापस आकर अपने खेत में एक एकड़ भूमि में इस किस्म के चने बोए। उन्होंने बताया कि समय-समय पर उचित मात्रा में कीटनाशक के छिड़काव करने की वजह से उनके खेत के किसी भी पौधे में कीड़े नहीं लगते।

आशीष ने बताया कि इस चने के पौधे की विशेषता यह है की पौधों की लंबाई लगभग तीन फीट होती है। वहीं इसमें भूमि से छहइंच ऊपर से फलियां लगनी शुरू होती हैं, जिससे इस फसल को कंबाइन हार्वेस्टर मशीन से भी आसानी से काटा जा सकता है। युवा किसान आशीष के खेतों का निरीक्षण करने जिले और मंडल स्तर के अधिकारियों के साथ ही दिल्ली से भी अधिकारी आ चुके हैं।

आशीष कुमार राय ने बताया कि राज्य स्तर पर मुख्यमंत्री से सम्मानित होकर उन्हें बहुत ही खुशी मिल रही है। इस बार भी उन्होंने अपने खेत में एचसी-5 चने की खेती की है। पिछली बार अगल-बगल के जिलों में लगभग 12 कुतंल चने उन्होंने बीज के रूप में बेच दिया। आशीष राय ने बताया कि परिवार के सदस्यों की तरह अपने खेत और फसलों की भी देखभाल करनी चाहिए।

बता दें कि एचसी-5 प्रजाति को हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय (एचएयू) से रिटायर्ड और आईएआरआई के वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ विरेन्द्र लाठर द्वारा तैयार किया गया है। इसके बीज नेशनल सीड कॉर्पोरेशन (एनएससी), हरियाणा सीड डेवेलपमेंट कॉर्पोरेशन (एचएसडीसी) और हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय से लिए जा सकते हैं।