अपना प्रदेश

इस प्रा​थमिक विद्यालय में पढ़ाई के नाम पर सिर्फ हो रही खानापूर्ति

चंदौली। नियामताबाद विकासखंड अंतर्गत प्राथमिक विद्यालय खरगीपुर में शिक्षा के नाम पर खानापूर्ति करने का काम किया जा रहा है। एक तरफ सरकार द्वारा परिषदीय विद्यालयों के लिए जारी किए गए प्रेरणा एप का जमकर विरोध किया जा रहा है। वहीं अध्यापकों की मनमानी इस कदर बढ़ गई है कि प्रातः 9 बजे तक विद्यालय पर ताला लटका रहता है।

पाठशाला पर लटका ताला शिक्षक ले रहे आनंद
बुधवार को खरगीपुर स्थित प्राथमिक विद्यालय पर यह स्थिति देखने को मिला, जब बच्चे घर से पढ़ाई के लिए निकले तो देखा कि विद्यालय के गेट पर ताला लगा है वहीं बच्चों से इस बाबत जानकारी ली गयी तो पता चला कि प्रतिदिन की यही कहानी है। गौरतलब है कि प्राथमिक विद्यालय खरगीपुर में 100 बच्चों पर प्रधानाध्यापक रामकिशोर राम, अध्यापिका वंदना सहित शिक्षामित्र मिता देवी कार्यरत है, लेकिन यहां पर प्रधानाध्यापक व अध्यापिका विद्यालय पर 2 से 3 घंटे लेट पहुंचती है, और रजिस्टर पर हस्ताक्षर कर पढ़ाई के नाम पर कोरम पूरा करके वापस चले जाते हैं।

विद्यालय में अध्यापक के रहने पर भी पूरा दिन बाहर खेलते हैं बच्चे
बता दें कि ​पढ़ाई के लिए घर से निकले बच्चे विद्यालय में पढ़ाई न होने से विद्यालय के प्रांगण में घूमते रहते हैं। अभिभावकों ने बच्चों कि शिकायत को ध्यान में रखते हुए जब विद्यालय पहुंचे तो वहां का नजारा देख कर आक्रोशित हो गये। सुबह 9 बजे तक विद्यालय पर न तो प्रधानाध्यापक और ना ही अध्यापिका मौजूद थी। वहीं ​शिक्षामित्र सहित दो रसोईयां भी विद्यालय खुलने का इंतजार कर रहीं थी। एक तरफ सरकार बार-बार दावा कर रही है कि सरकारी स्कूलों में भी कान्वेंट स्कूल के तर्ज पर पढ़ाई कराई जा रही है, लेकिन विद्यालयों का नजारा देखने पर हकीकत साफ नजर आ रही है। इस बाबत बीएसए भोलेन्द्र प्रताप सिंह से वार्ता की कोशिश की गई तो उन्होंने बताया कि वह प्रभारी मंत्री के साथ बैठक में है।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top