वाराणसी। राज्य स्तरीय संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा वाराणसी में दो पालियों में आयोजित होनी है। पहली पाली के लिए परीक्षार्थी अपने केंद्रों तक पहुंच गए हैं और परीक्षा शुरु हो चुकी है। परीक्षा में कोविड-19 को लेकर जिला प्रशासन सतर्क है, जिसको देखते हुए सभी केंद्रों को सैनिटाइज करवाया गया है और परीक्षण केंद्र पर परीक्षार्थियों को 1 घंटे पहले बुलाया गया था। जिला प्रशासन ने बिना मास्क, सैनिटाइजर और थर्मल स्कैनिंग के किसी भी परीक्षार्थी को केंद्र के भीतर जाने की मनाही की थी, लेकिन इस बीच केंद्र पर परीक्षार्थी सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ाते नजर आए। वहां मौजूद व्यवस्था संभालने वाले जिम्मेदार केवल मूक दर्शक के रुप में नजर आए।

दरअसल संयुक्त बीएड प्रवेश परीक्षा वाराणसी में आयोजित कराई जा रही है। दो पालियों में परीक्षा को संपन्न कराया जाएगा। इसको लेकर जिला प्रशासन ने यह आदेश जारी किया था कि केंद्र में किसी भी परीक्षार्थी को बिना मास्क, सैनिटाइजर के प्रवेश नहीं दिया जाएगा। इसके साथ ही जिनका टेंपरेचर लेवल हाई है उन्हें आइसोलेशन कक्ष में परीक्षा दिलवाई जाएगी, लेकिन इस दौरान परीक्षा केंद्रों पर परीक्षार्थियों की भीड़ उमड़ पड़ी और वहां सोशल डिस्टेंसिंग की जमकर धज्जियां उड़ी। केंद्र व्यवस्थापक स्थिति को संभालने में नाकाम रहे। लगातार बढ़ रहे संक्रमण के बीच यह लापरवाही मुसीबत का सबब भी बन सकती है।

प्रथम पाली में सुबह 9:00 से दोपहर 12:00 बजे तक परीक्षा संपन्न होगी, तो वहीं द्वितीय पाली में दोपहर 3:00 बजे से शाम 5:00 बजे तक परीक्षा को संपन्न कराया जाएगा। वहीं केंद्र व्यवस्थापक को यह निर्देश भी जारी हुआ था कि कक्ष को पूरी तरीके से सैनिटाइज करवाया जाएगा और उसके बाद परीक्षार्थी वह परीक्षा देंगे। लेकिन केंद्रों पर उमड़ी भीड़ को देखकर यही लग रहा था कि परीक्षा कक्ष को भले ही सैनिटाइज करवा दिया जाए, लेकिन संक्रमण सोशल डिस्टेंसिंग की धज्जियां उड़ता देख कई लोगों को अपनी आगोश में ले सकता है।

वाराणसी में आयोजित होने वाली यह परीक्षा लापरवाही की जद में, फैल सकता है संक्रमण
To Top