अपना देश

कुपवाड़ा में शहीद जवान का पार्थिव शरीर पहुंचा वाराणसी, नम आंखों से दी गई अंतिम विदाई 

वाराणसी। कश्मीर के कुपवाड़ा में पाकिस्तान द्वारा की गई फायरिंग में शहीद हुए एक जवान का पार्थिव शरीर मंगलवार को लाल बहादुर शास्त्री अंतर्राष्ट्रीय एयरपोर्ट पर पहुंचा, जिसके बाद शहीद के पार्थिव शरीर को 39 जीटीसी लाया गया,जहां सशस्त्र जवानों द्वारा शहीद को सलामी दी गयी।   

जम्मू कश्मीर के कुपवाड़ा में पाकिस्तान द्वारा की गयी फायरिंग में रायफलमैन गामिल कुमार श्रेष्ठ शहीद हो गए। जिनका पार्थिव शरीर आज वाराणसी के लाल बहादुर शास्त्री एयरपोर्ट पर दोपहर 3:10 बजे एयर इंडिया के विमान एआई 433 से लाया गया। इस दौरान एयरपोर्ट पर,एयरपोर्ट निदेशक आकाश दीप, सी,आई,एस,एफ, कमांडेंट सुब्रत झा, मेजर हरीश विजेंद्रन, एसडीएम पिण्डरा, एसपी ग्रामीण मार्तंड प्रताप सिंह, एडीएम प्रशासन, सीओ पिण्डरा अनिल रॉय, फूलपुर एसओ सनवर अली, बाबतपुर चौकी इंचार्ज अरविंद कुमार यादव मौजूद थे। 39 जीटीसी जवानों के साथ ब्रिगेडियर हुकुम सिंह बैंसला ने नाम आंखों से शहीद जवान को विदाई दी।

 उसी फायरिंग में दूसरे जवान हवलदार पदम बहादुर श्रेष्ठ का पार्थिव शरीर दिल्ली से ही आसाम भेज दिया गया। हवलदार पद्म बहादुर श्रेष्ठ व नेपाल निवासी राइफलमैन गामिल कुमार श्रेष्ठा ने पाकिस्तान की फायरिंग का जवाब देते हुए देश की खातिर अपना सर्वस्व न्योछावर कर दिया। दोनों जवान 39 जीटीसी गोरखा राइफल के हैं। उन्होंने 39 जीटीसी से ट्रेनिंग पूरी की थी। 39 जीटीसी के अधिकारियों ने बताया कि शहीद गामिल कुमार श्रेष्ठ  नेपाल के पापला निवासी थे, जो अविवाहित थे और 2017 में ट्रेनिंग पूरी कर वह सेना में शामिल हुए थे, वहीं, शहीद पदम बहादुर श्रेष्ठा ने भारतीय सेना के साथ गौरवपूर्ण 17 वर्ष देश की सेवा की। वह अपने पीछे एक बेटी, एक बेटा और पत्नी छोड़ गए हैं वहीं दूसरे जवान का पार्थिव शरीर आसाम के लिए रवाना हो गया।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top