मनोरंजन

सदी के ‘महानायक’ को दादा साहब फाल्के से नवाजा जाएगा 

नई दिल्ली। सदी के महानायक अमिताभ बच्चन को भारतीय फिल्मों में महत्वपूर्ण योगदान के लिए दादा साहेब फाल्के पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। दादा साहेब फाल्के पुरस्कार समिति ने महानायक के नाम की सिफारिश थी, जिसे सरकार ने स्वीकार कर लिया। 

सूचना एवं प्रसारण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने ट्वीट कर कहा कि हिंदी फिल्मों में ‘‘लीजेंड’ बन गए अमिताभ बच्चन को सर्वसम्मति से दादा साहेब पुरस्कार के लिए चुना गया है। उन्होंने दो पीढ़ियों को अपने अभिनय और मनोरंजन से न केवल प्रभावित किया है, बल्कि प्रेरित भी किया है। जावड़ेकर ने कहा कि बच्चन को यह सम्मान मिलने से न केवल देश में, बल्कि विदेशों में भी उनके प्रशंसकों में खुशी की लहर दौड़ गई है। 
 
 76 वर्षीय अमिताभ बच्चन ने 1970 के दशक में ‘जंजीर’, ‘दीवार’ और ‘शोले’ जैसी फिल्मों के माध्यम से युवा पीढ़ी के गुस्से को अभिव्यक्ति दी और उन्हें ‘‘एंग्री यंग मैन’ कहा गया। 1970 के दशक से शुरू हुआ अमिताभ का स्टारडम भारतीय सिनेमा में अब तक जारी है। उत्तर प्रदेश के इलाहबाद में 11 अक्टूबर, 1942 को जन्मे अमिताभ बच्चन ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत सात ¨हदुस्तानी फिल्म से की थी, जिसके बाद उन्होंने जंजीर, दीवार और शोले जैसी फिल्मों से एंग्री यंग मैन की भूमिका से लोगों के दिलों पर राज करना शुरू कर दिया था। 
 
वहीं अमिताभ बच्चन ने आनंद, मिली, नमक हराम, अभिमान जैसी फिल्मों से अपनी विशिष्ट पहचान बनाई और अपनी प्रतिभा से सबका मन मोह लिया। अमिताभ बच्चन को सर्वश्रेष्ठ अभिनेता के रूप में चार बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार और 15 बार फिल्म फेयर अवॉर्ड मिल चुका है। उन्हें 1984 में पद्मश्री और 2001 में पद्मभूषण तथा 2015 में पद्मविभूषण भी दिया जा चुका है। इसके अलावा फ्रांस का सर्वोच्च नागरिक सम्मान ‘लीजन ऑफ हॉनर’ भी मिल चुका है।
Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top