नई दिल्ली। गाजियाबाद के पत्रकार विक्रम जोशी की इलाज के दौरान मौत हो गई है। सोमवार रात को रास्ते में रोककर हमलावरों ने उनके सिर पर गोली मार दी थी। घटना के वक़्त उनकी दोनों बेटियां भी उनके साथ में थी। आनन- फानन में उन्हें अस्पताल में इलाज के लिए भर्ती कराया गया था जहां इलाज के दौरान उनकी मौत हो गयी। वहीं विक्रम जोशी के घर वालों का कहना है कि मुख्य आरोपी के पकड़े जाने पर ही पार्थिव शरीर को लेंगे।

बता दें कि अपनी भांजी के साथ छेड़छाड़ करने वालों के खिलाफ विक्रम जोशी ने थाने में तहरीर दी थी। जिसके बाद बदमाशों ने उन्हें रास्ते में रोककर गोली मार दी थी। इस मामले में अबतक कुल 9 आरोपित गिरफ्तार हो चुके हैं।

वहीं पुलिस ने बताया कि अभी तक नौ अरोपियीं को हिरासत में ले लिया गया है। एफआईआर में तीन संदिग्धों छोटू, आकाश बिहारी और रवि का नाम है, जिनको गिरफ्तार करने में पुलिस जुट गयी है। इस मामले के बाद चौकी इंचार्ज एसआई राघवेंद्र को तत्काल निलंबित कर दिया गया है।

पत्रकार का शव लेने से परिवार ने किया इनकार, कहा-जब तक इंसाफ नहीं, तब तक अंतिम संस्कार नहीं
To Top