वाराणसी

महाशिवरात्रि के पर्व पर प्रशासन ने किया रुट डायवर्जन

वाराणसी। महाशिवरात्रि त्यौहार के अवसर पर 21 फरवरी को जनपद वाराणसी में लाखों की संख्या में श्रद्धालुओं का आवागमन होता है। इसको देखते हुए श्रद्धालुओं की सुविधा एवं आवागमन में किसी प्रकार की असुविधा न हो सके इसके मद्देनजर नगर क्षेत्र में निम्नलिखित स्थलों को नो-वेहिकल जोन घोषित किया गया है, जो ये हैं- 

मैदागिन से चैक होते हुये गोदौलिया की तरफ जाने वाले वाहनों को मैदागिन चैराहा से आगे नहीं जाने दिया जायेगा।

टाउन हाल की तरफ से आने वाले किसी भी प्रकार के छोटे, बड़े, भारी एवं हल्के वाहनों को चौक की तरफ नही जाने दिया जायेगा।

बुलानाला काशीपुरा के तरफ से गलियों आदि से आने वाले वाहनों को मैदागिन के तरफ मोड़ दिया जायेगा, उन्हें किसी भी दशा में काशी विश्वनाथ मंदिर की तरफ नहीं जाने दिया जायेगा।

लक्सा की तरफ से आने वाले किसी भी प्रकार के वाहनों को लक्सा थाने से आगे नहीं जाने दिया जायेगा।

बेनियाबाग तिराहा से गिरजाघर की तरफ समस्त प्रकार के वाहन प्रतिबन्धित रहेगें।

लहुराबीर से होकर गोदौलिया की तरफ जाने वाली सभी प्रकार के वाहनों को बेनिया तिराहा से आगे नहीं  जानेदिया जायेगा।

अस्सी, सोनारपुरा से होकर गोदौलिया की तरफ जाने वाली सभी प्रकार के वाहनों को सोनारपुरा चैराहा से आगे नहीं जाने दिया जायेगा।

भेलूपुर थाने के सामने से रेवड़ी तालाब होते हुए रामापुरा की तरफ जाने वाले चार पहिया/तीन पहिया वाहनों को भेलूपुर चैराहे से आगे नहीं जाने दिया जायेगा।

रेवड़ी तालाब पार्क तिराहा से रामापुरा की तरफ जाने वाले वाहनों को रेवड़ी तालाब पार्क से आगे नहीं  जाने दिया जायेगा।

उपरोक्त मार्ग से मिलने वाली बीच की गलियों से होकर आने वाले वाहनों पर भी यह प्रतिबंध लागू होगा,ड्यूटी में लगे हुये अधिकारी/कर्मचारी यह सुनिश्चित करेगें कि प्रतिबन्धित क्षेत्र में वाहनों का आवागमन किसी भी दशा में न हो।

शव वाहन, फायर व्रिगेड/एम्बुलेंस उपरोक्त प्रतिबंधों से मुक्त रहेगें।

यदि कोई बीमार या विकलांग व्यक्ति प्रतिबंधित क्षेत्र में विशेष कारणों से वाहन से जाना चाहता है तो मौके पर उपस्थित अधिकारी अपने विवेक एवं विद्यमान परिस्थिति से अवगत होकर नियन्त्रण कक्ष को सूचना देकर विशेष परिस्थिति में अनुमति दे सकते है।

ड्यूटी पर नियुक्त अधिकारियों/कर्मचारियों के वाहन मैदागिन तक ही जायेगें। मैदागिन से श्री काशी विश्वनाथ मंदिर तक ये वाहन भी प्रतिबंधित रहेगें।

पुलिस बल एवं अर्द्ध सैनिक बलों को ड्यूटी पर ले जाने/आने के लिये प्रयोग किये जाने वाले बड़े वाहन केवल मैदागिन तक ही जा सकेगें। मैदागिन से चैक की तरफ जाने पर इन पर भी प्रतिबंध रहेगा। इन वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था थाना कोतवाली में की गयी है।

नो-वेहिकल जोन में किसी भी अधिकारी/कर्मचारी (प्रशासनिक/पुलिस) का वाहन भी संचालित नहीं होगा। यदि किसी अधिकारी को भ्रमण करने की आवश्यकता होगी, तो वे पैदल/ई-रिक्शा के माध्यम से ही भ्रमण कर सकेंगे।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top