JAUNPUR: कूड़े की ढ़ेर से उठ रहा अब भी धुआं, प्रशासन बेखबर

0
33

जौनपुर। एनजीटी और सरकार पराली जलाने से बढ़ रहे वायु प्रदूषण को कम करने के लिए तमाम उपाय कर रही है,लेकिन पराली जलाने पर रोक लगाने में अब भी पूरी तरह से कामयाब नहीं हो पाई है। एनजीटी ने केंद्र से लेकर प्रदेश सरकार के जरिए स्थानीय प्रशासन को पराली के साथ कूड़ा जलाने पर सख्त होने का निर्देह भी दिया है, बावजूद इसके जिम्मेदार लोग ही इसको बढ़ावा देते हुए दिखाई दे रहे हैं। 

बता दे कि शाहगंज नगर पालिका प्रशासन कूड़ा प्रबंधन का इंतजाम अब तक नहीं कर पाया है और लखनऊ-बलिया राज्य  मार्ग पर सड़क किनारे कूड़े को गिराकर उसे जला दिया जा रहा है। इससे क्षेत्र में धुएं से हवा खराब हो रही है और पेड़ पौधों को भी नुकसान पहुंच रहा है। जिला प्रशासन भले ही पराली जलाने पर सख्त हो, वहीं इसी क्रम में पराली जलाने पर किसानों को नोटिस भेजकर जुर्माना वसूलने में जुटा हुआ हो लेकिन जौनपुर में पराली जलानें की तस्वीर को शाहगंज क्षेत्र में आसानी से देखा जा सकता है। पराली जलाने से एक तरफ जहां वायु प्रदूषण तेजी से बढ़ रहा है तो दूसरी तरफ सांस की बीमारी भी लोगों में तेज़ी से बढ़ती दिखाई दे रही है।

गौरतलब है कि शाहगंज नगर पालिका प्रशासन क्षेत्र के बड़ागांव स्थित लखनऊ बलिया राज्य मार्ग पर सड़क किनारे कूड़ा फेककर उसमें आग लगवा दे रहीं हैं। कूड़े से पूरा दिन धुआं निकालता दिखाई देता हैं। वहां से गुजरने वालें वाहनों को भी काफी समस्या होतीं हैं। खासकर पैदल चलने वालें स्कूली बच्चों व स्थानीय ग्रामीणों को कठिनाइयों का सामना करना पड़ रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि कूड़े से निकलनें वालीं धुआं से दम घुटता हैं हवा जहरीली हो रहीं हैं सांस लेने में काफी समस्या होती हैं। इस मामले को ग्राम प्रधान समेत जिम्मेदार लोगों से शिकायत किया गया लेकिन अभी तक निस्तारण नहीं हो सका। फिलहाल अब देखने वाली बात यह होगा की जिला प्रशासन वायु प्रदूषण फैलाने वाले इन लोगों के खिलाफ क्या कार्रवाई करता है ।