VARANASI: बोले पायलट बाबा, युवाओं को राष्ट्रप्रेमी होना चाहिए

0
12

वाराणसी। पायलट बाबा को सभी जानते हैं, एयरफोर्स से लेकर आध्यात्म गुरु का सफर तय करने वाले पायलट बाबा आज काशी पहुंचे। जहां इन्होंने मीडिया से बातचीत के दौरान बताया कि कैसे वो सेना से आध्यात्म की तरफ मुड़े। उन्होंने अपनी संस्कृति को लेकर कहा कि देश ही नहीं पूरे विश्व में अपने देश की संस्कृति का प्रचार होना चाहिए, जिससे कि युवा उससे भली भांति अवगत हो सके। इनका पूरा नाम कपिल सिंह उर्फ़ अद्वैत उर्फ़ पायलट बाबा है। 

बता दें कि ये वही पायलट बाबा हैं जो फर्जीवाड़े के मामले में जेल तक जा चुकें हैं ये अलग बात है कि वो जमानत पर रिहा होकर कुछ दिनों के बाद बाहर आ गए थे। वहीं हाईकोर्ट ने निचली अदालत की उस शर्त को खत्म कर दिया था,जिसमें उन्हें जापान, यूएसए दूतावास व पासपोर्ट अधिकारी को सूचना देने को कहा गया था।

मीडिया से बातचीत के दौरान उन्होंने कहा कि काशी हिन्दू विश्वविद्यालय महज शिक्षा की राजधानी नहीं बल्कि पूरी एक सभ्यता है जो विश्व को ज्ञान ही नहीं देती बल्कि संस्कार का पाठ भी पढ़ाती है। साथ ही ये भी कहा कि आर्टिकल 370 हटना बहुत जरूरी था इससे देश के साथ ही कश्मीरियों का भी विकास होगा। कभी-कभी कुछ ऐसी घटनाएं सामने आती हैं जो आह निकाल देती हैं। युवाओं को राष्ट्रप्रेमी होना चाहिए। जिस भूमि पर जन्म लिए उसके प्रति सम्मान होना चाहिए। सेना में रहते हुए हमने देश सेवा की वह प्रेम जीवम पर्यन्त रहेगा।

वहीं आध्यत्म में आने का कारण बताते हुए बोला आध्यात्म में आना महज इतना था कि देश की संस्कृति को सीखकर जानकर पूरे विश्व को बता सकें। कभी-कभी हमारे जीवन में कुछ ऐसा भी होता कि हम उस रास्ते पर निकल पड़ते हैं जो हमें किसी अच्छे लक्ष्य तरफ ले जाता है। मैं भी एयरफोर्स से अध्यात्म की तरफ मुड़ गया। मुझे युवाओं को अपनी संस्कृति को पहचान कराना है।