वाराणसी। सावन के चौथे सोमवार को बाबा के दरबार में भक्तों का तांता लगा रहा। दर्शन के दौरान  भक्तों नेसोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए सावन के चौथे सोमवार को बाबा का रुद्राक्ष श्रृंगार बड़े धूमधाम से संपन्न हुआ। रुद्राक्ष श्रृंगार के दौरान  महंत, अर्चक और कर्मचारियों के अलावा सिर्फ दैनिक दर्शन करने वाले भक्तों को ही साक्षात् दर्शन करने का मौका मिला। वहीं बाकी भक्तों ने इस कोरोना काल में बाबा के इस रूप का दर्शन ऑनलाइन के द्वारा घर बैठे ही किया।

बता दें कि पूरे सावन बाबा के दरबार में भक्तों का आना लगा रहता है लेकिन इस बार कोरोना के चलते भक्तों  में कमी रही। लोग बाबा के दर्शन ऑन लाइन के द्वारा ही ज्यादातर कर रहे हैं। सावन के चारों सोमवार को होने वाले विशेष श्रृंगार दौरान  बाबा का चौथे सोमवार को रुद्राक्ष श्रृंगार किया गया। पूरे गर्भगृह को रुद्राक्ष से सजाया गया। बाद में इन रुद्राक्ष को प्रसाद स्वरूप भक्तों में वितरित किये जाने का विधान है।

इस बार सावन में सबसे ज्यादा भक्तों की भीड़ सावन के चौथे सोमवार को देखने को मिली, जहां मंदिर के कपाट बंद होने तक करीब पांच हजार भक्तों ने दर्शन किया। हालांकि जो बाहरी भक्त आते थे उनको बाबा का सामने से दर्शन नहीं मिला और उनलोगों को ऑन लाइन दर्शन का सहारा लेना पड़ा।

सावन के चौथे सोमवार को बाबा विश्वनाथ का हुआ रुद्राक्ष श्रृंगार, ऑनलाइन दर्शन कर भक्त हुए निहाल
To Top