नहीं सुने दारोगा की बात और कर दी पिटाई, पहुंचे जेल

0
26

मऊ। शहर कोतवाली अंतर्गत अलिबिल्डिंग के पास सड़क पर बेतरतीब खड़ी दो पहिया वाहन को उठवाकर चौकी प्रभारी कोतवाली ले आएं और गाड़ी को सीज कर दिया। ऐसा करना चौकी प्रभारी को तब भारी पड़ गया, जब गाड़ी का मालिक रिटायर्ड फौजी इसको लेकर चौकी प्रभारी से कहासुनी करते हुए उनकी जमकर धुनाई कर दिया। इसके बाद रिटायर्ड फौजी और उसके साले को गिरफ्तार कर लिया गया और उन दोनों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है।

चौकी प्रभारी ने बताया कि चेकिंग अभियान चल रहा था कि इस बीच सड़क पर तीन गाड़ियां खड़ी दिखाई पड़ी। तीनों गाड़ियों को उठाकर ले आया गया। इसके बाद एक गाड़ी के मालिक के रूप में रिटायर्ड फौजी के साले मेरे पास पहुंचे तो मैने गाड़ी सीज करने के बाद उन्हें कागजात दे दिया। इसके बाद रिटायर्ड फौजी मेरे पास पहुंचे , जो कि नशे में भी थे। उन्होंने यहां आकर धमकाना शुरू किया कि मैं सेना का जवान रहा हूं और तुम्हारी हिम्मत कैसे हुई मेरी गाड़ी सीज करने की।

चौकी प्रभारी ने बताया कि इतना कहते ही रिटायर्ड फौजी कोई बात बिना सुने ही मेरे पर हमलावर हो गये और मुझ पर हाथ छोड़ दिया। इसके बाद मैने इसकी सूचना आला अधिकारियों को दी और इनके खिलाफ तहरीर दी है और मुकदमा पंजीकृत किया जा रहा है।