वाराणसी। कारगिल युद्ध को बीते 21 साल हो गए हैं, लेकिन देश आज भी सैनिकों की उस वीरगाथा को नहीं भूला। पूरा देश आज कारगिल विजय दिवस मना रहा है। सेना के पराक्रम से दुश्मन को मुह की खानी पड़ी थी। उसी को लेकर गंगा सेवा निधि द्वारा दशाश्वमेध घाट पर विजय दिवस के उपलक्ष में दिये जलाए गए। दैनिक गंगा आरती के दौरान संस्था के लोगो युद्ध में शहीद हुए सैनिकों को श्रद्धांजलि भी दी।

इस दौरान घाट पर 501 दिये जलाकर शहीदों को याद किया गया। इस मौके पर गंगा सेवा निधि के सचिव हनुमान यादव और प्रधान अर्चक रणधीर पांडेय समेत संस्था के लोगों ने दीपमालाओं से 21 वां विजय दिवस और जयहिंद लिखकर उस भावना को पुनः स्मृति में लाने का प्रयास किया गया जो 21 साल पहले देश कर प्रति जन-जन में था। हालांकि कोविड की वजह से इस विशेष आरती में भी लोगों की सहभगिता नहीं हो सकी। बता दें कि कोरोना के कारण लगभग पिछले साढ़े तीन महीनों से दशास्वमेध घाट पर होने वाली गंगा आरती प्रतीकात्मक रूप से ही सम्पन्न हो रही है।

कारगिल विजय दिवस पर सेना के पराक्रम को किया याद, गंगा आरती के दौरान जलाए गए दिये
To Top