अपना देश

रिलायंस जियो प्लेटफॉर्म शिखर की तरफ, चार हफ्ते चार बड़े निवेश जाने किसने किया चौथा इन्वेस्टमेंट

नई दिल्ली। जियो प्लेटफॉर्म्स को पिछले 1 महीने में चौथा बड़ा इंवेस्टमेंट मिला है। वहीं अब जनरल अटलांटिक ने 1.34% इक्टविटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 6598.38 करोड़ रु के निवेश की घोषणा की है। जनरल अंटलांटिक ने जियो प्लेटफॉर्म्स की कीमत 4.91 लाख करोड़ रु आंकी है। पिछले चार हफ्तों में जियो प्लेटफॉर्म्स में 67194.75 करोड़ रु का इंवेस्टमेंट हुआ है। सबसे पहले फेसबुक निवेश ले कर आया। उसके बाद विश्व के अग्रणी निवेशक सिल्वर लेक एवं विस्टा इक्विटी पार्टनर्स और अब जनरल अंटलांटिक जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की “फ़ुली ओन्ड सब्सिडियरी” है।

वहीं जियो के चेयरमैन मुकेश अम्बानी ने कहा की वैश्विक निवेशक जनरल अटलांटिक का एक महत्वपूर्ण भागीदार के रूप में स्वागत करते हुए मैं रोमांचित हूं। मैं कई दशकों से जनरल अटलांटिक से परिचित हूं और भारत की विकास क्षमता में विश्वास के लिए उनका प्रशंसक हूं। भारत को डिजिटल सोसाइटी बनाने का हमारा और जनरल अटलांटिक का विज़न साझा है। 130 करोड़ भारतीयों के जीवन को समृद्ध बनाने में डिजिटलीकरण की परिवर्तनकारी शक्तियों में उनका दृढ़ विश्वास हैं। जनरल अटलांटिक की प्रमाणित वैश्विक विशेषज्ञता और 40 वर्षों के तकनीकी निवेश के अनुभव का लाभ हम जियो के लिए उठाने को उत्साहित हैं।”

बता दें कि जियो ने विश्व स्तरीय डिजिटल प्लैटफ़ॉर्म बनाने की प्रक्रिया में अत्याधुनिक तकनीकों का इस्तेमाल किया है जिनमें शामिल हैं – ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी, स्मार्ट डिवाइसेज़, क्लाउड और एज कंप्यूटिंग, बिग डेटा एनालिटिक्स, आर्टिफ़िशियल इंटेलिजेंस, इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स, ऑग्मेंटेड रिएलिटी, मिक्स्ड रिएलिटी और ब्लॉकचेन।रिलायंस जियो ने एक नई डिजिटल दुनिया बनाई है जिसमें नेटवर्क, डिवाइसेस, एप्लिकेशंस, कॉन्टेंट, सर्विस एक्स्पीरियेंसेज़ सब शामिल हैं – और ये डिजिटल वर्ल्ड, भारत के ग्राहकों को उपलब्ध है – वो भी किफ़ायती दामों पर। कोविड-19 संकट के समय में भी जियो प्लैटफ़ॉर्म्स ने बेहतरीन सर्विस देकर लोगों का भरोसा जीतते हुए भारत की “डिजिटल लाइफ़लाइन” बनने का गौरव हासिल किया है।

Most Popular

To Top