VARANASI : रामगोविंद चौधरी ने बीजेपी सरकार पर लगाए ये आरोप

0
18

वाराणसी। मौजूदा सरकार द्वारा एनआरसी और सीएए एक्ट को लागू करने के विरोध में इन दिनों राजनीति गर्मायी हुई है तो वहीं विपक्षी पार्टियों को इस मुद्दे पर सरकार को घेरने का मौका मिल गया है। बीते दिनों पीएम मोदी के संसंदीय क्षेत्र वाराणसी में भी एनआरसी और सीएए का पुरजोर विरोध करने के साथ ही हिंसक प्रदर्शन किया गया था, जिसमें हिंसक प्रदर्शन करने वाले लगभग 70 लोगों को पुलिस ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। इसी क्रम में आज वाराणसी पहुंचे समाजवादी पार्टी के प्रतिपक्ष नेता रामगोविंद चौधरी ने एनआरसी और सीएए का विरोध करने वाले जेल बंद लोगों से मुलाकात किये और उन्हें आश्वासन दिया कि जल्द ही उनकी जमानत होगी और वह जेल से बाहर आएंगे।

 जेल मे बंद लोगों से मुलाकात करने के बाद मीडिया से बात करते हुए रामगोविंद ने कहा कि 19 दिसंबर को वाराणसी में शांतिपूर्ण तरीके से एनआरसी और सीएए का विरोध प्रदर्शन हुआ था। शांतिपूर्ण तरीके से विरोध प्रदर्शन करने के बावजूद 70 लोगों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया। इसमें विभिन्न समाज संगठन व राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित लोग भी मौजूद है। साथ ही राम कोविंद ने कहा कि भाजपा सरकार जनता की सरकार ना होकर तानाशाही की सरकार हो गई है,जबकि हमें संविधान में अपनी आवाज उठाने का अधिकार मिला है लेकिन यह तानाशाही सरकार लोगों की आवाज को दबाने का काम कर रही है। किसी भी एक्ट में यह बात नहीं कही गई है कि विरोध करने वालों से मुआवजा वसूला जाएगा,परंतु यह सरकार लोगों को परेशान करने के साथ ही मुआवजा वसूलने का काम कर रही है।

समाजवादी पार्टी के प्रतिपक्ष रामगोविंद ने भाजपा की सरकार की तुलना अंग्रेजो से की है। उन्होंने कहा कि उत्तर प्रदेश मे कानुन व्यवस्था पूर्ण रूप से लचीला है उत्तर प्रदेश में अपराध का ग्राफ बढ़ गया है। साथ ही उन्होंने यह भी कहा है कि एनआरसी और सीएए के विरोध में हमारा प्रदर्शन जारी रहेगा।