दिल्ली से आये प्रॉपर्टी डीलर का किया गया अपहरण, पुलिस ने छुड़ाया

0
68

वाराणसी। अपराधियों का मनोबल इन दिनों अपने चरम पर है। ताजा मामला वाराणसी के चौबेपुर का है,जहां बदमाशों ने एक प्रॉपर्टी डीलर का अपहरण कर उसे महाकाल मंदिर के निचले तल पर एक कमरे में बंद कर दिया। हालांकि अपहरणकर्ताओं की आंखों में धूल झोंक अपहृत प्रॉपर्टी डीलर ने पुलिस को सूचना दी, जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने कमरे का दरवाजा तोड़ उसे छुड़ाया। पुलिस ने इस मामले में एक आरोपी को भी गिरफ्तार किया है,जिससे पूछताछ जारी है।

अपहृत मुगलसराय निवासी दीपक जायसवाल ने बताया कि वह दिल्ली में प्रॉपर्टी का काम करते हैं। उन्हें विजय भारती नामक एक व्यक्ति ने प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट करने के लिए वाराणसी बुलाया था और दो दिन तक कैंटोमेंट स्थित एक होटल में रखा गया था। इसके बाद एक दिन पूर्व उन्हें दिल्ली छोड़कर आने की बात कह अपहरणकर्ता उन्हें अपने साथ प्रतापगढ़ तक ले गये,जहां पहुंचने पर विजय भारती ने दीपक से कहा कि उसके स्कूल की बस दुर्घटनाग्रस्त हो गई है और उसे तत्काल जाना होगा,जिसके बाद वह दीपक को दिल्ली छोड़ देगा।

अपहरणकर्ताओं की साजिश से बेखबर दीपक उनके साथ चल दिया और जब गाड़ी जौनपुर पहुंची तो उन्होंने उसके सिर पर जबरन नकाब डाल दिया,जिसके बाद उसे कई जगहों पर घुमाया गया और उसके बाद चौबेपुर के महाकाल मंदिर के ही निचले तल पर स्थित एक कमरे में बंद कर दिया। मंगलवार की सुबह जब अपहरणकर्ता दीपक को खाना देकर चले गये तो उनका लाइटर वहीं समीप में गिरा पड़ा देख दीपक ने किसी प्रकार हाथों में बंधी रस्सी को उससे जलाया और अपहरणकर्ताओं की समीप में चार्जिंग में लगी मोबाइल से 112 नंबर पर पुलिस को घटना की जानकारी दिया।

सूचना मिलने पर एसओ चौबेपुर मनोज कुमार त्वरित कार्रवाई करते हुए मौके पर चोलापुर एसओ हरिनारायण पटेल के साथ पहुंचे और कमरे का ताला तोड़कर प्रॉपर्टी डीलर दीपक जायसवाल को छुड़ाया। मौके पर पुलिस ने अपहरणकर्ताओं के साथ रहने वाले एक व्यक्ति को भी गिरफ्तार कर लिया है,जिससे मुख्य साजिशकर्ता विजय भारती के बारे में पूछताछ जारी है।