अन्य

पुलिस की निगेहबानी में कैदी ने की आत्महत्या, जानें क्या है पूरा मामला

वाराणसी। यूपी में कैदियों की लगातार आत्महत्या की घटना बढ़ती जा रही है। ऐसे में पुलिस के ऊपर ये सवाल उठता है कि कैदी लगातार निगरानी में रहते हुए भी आत्महत्या कैसे कर ले रहे है। ताजा मामला आगरा के जिला जेल का है, जहां जेल परिसर के अस्पताल में दवा लेने गए कैदी ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली है।

जानकारी के अनुसार यूपी एसटीएफ ने बीते 5 सितंबर को ओंकार झा नामक व्यक्ति को गिरफ्तार किया था। जो नकली नोट बनाने का मास्टरमाइंड था। ओंकार लैपटॉप और कलर प्रिंटर की मदद से ₹100 के पुराने नोट छापने का काम करता था और 10 के स्टांप पेपर की सिलवर थ्रेड निकालकर नोट पर चिपका देता था, जिसे गिरफ्तार कर के आगरा के जिला जेल में रखा गया था।

बता दें कि बुधवार की देर रात ओंकार जेल के अस्पताल में दवा लेने गया था। जब वहां से लौट रहा था तो अस्पताल के परिसर में स्थित पेड़ पर अपने गम्छे से फांसी लगा लिया, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई। कैदियों ने घटना की जानकारी जेल प्रशासन को दी। मौके पर पहुंची पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top