अपना प्रदेश

DLW में रावण दहन की तैयारी अंतिम चरण में, सुरक्षा के किये गए हैं पुख्ता इंतजाम

रिपोर्ट – अनुज जायसवाल

वाराणसी। इस बार दशहरा 8 अक्टूबर को मनाया जा रहा है। दशहरा को बुराई पर अच्छाई की जीत का प्रतीक माना जाता है। इसलिए इसे विजयादशमी या आयुध-पूजा भी कहा जाता है। दशहरा के दौरान देश के हर हिस्से में रावण का पुतला दहन किया जाता है। हर साल की तरह ही इस साल भी डीरेका में पुतला दहन की तैयारी अपनी अंतिम चरण में है।

ऐसा माना जाता है कि दशमी के दिन प्रभु श्री राम ने रावण का वध किया था। भगवान राम की रावण पर और माता दुर्गा की महिषासुर पर जीत के इस त्यौहार को बुराई पर अच्छाई और अधर्म पर धर्म की विजय के रुप में देशभर में मनाया जाता है। इसी क्रम में पीएम मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में भी नवमी से दशहरे तक की तैयारियां पूर्ण हो चुकी है। जगह-जगह दशहरा कमेटियों द्वारा रावण के छोटे बड़े पुतलों को बनाने की तैयारियां भी लगभग पूरी हो चुकी है।

डीएलडब्ल्यू के दशहरा कमेटी के महामंत्री अनूप सिंह ने बताया की डीएलडब्ल्यू में रावण के पुतले को तैयार किया जा चुका है।अब लोगों को इंतजार है,तो दशहरे की शाम का जब रावण को दहन किया जाएगा। दशहरे के दिन डीएलडब्ल्यू के डीरेका मैदान में 70 फीट ऊंचे रावण के पुतले को दहन किया जाएगा।

70 फीट ऊंचे रावण की पुतले को बनाने की तैयारी पिछले 1 महीने से चल रही है। डीरेका मैदान में हर वर्ष हजारों की भीड़ होती है और इस बार भीड़ आने की संभावना और भी अधिक जताई जा रही जिसको लेकर डीएलडब्ल्यू के दशहरा कमेटी के लोगों ने तैयारियां पूरी कर ली है। भीड़ को देखते हुए प्रशासन द्वारा भी लोगों की सुरक्षा के लिए पुख्ता इंतजाम किए गए हैं।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top