अपना प्रदेश

प्रशासन के दावों की पोल खोल रहा गाजीपुर का ये गांव 

गाजीपुर। प्रशासन के दावों का पोल खोल रहा गाज़ीपुर का ये बाढ़ग्रस्त इलाका, जहां लोगों को पीने के लिए साफ पानी भी नहीं मिल रहा। योगी सरकार ने प्रशासन को निर्देश दिया है कि बाढ़ पीड़ितों को सभी मूलभूत सुविधा मुहैया कराई जाये, वहीं दूसरी तरफ गाज़ीपुर के भांवरकोल इलाके में साफ पानी के लिए लोग तरस गए हैं, लेकिन प्रशासन उन तक साफ पानी नहीं पहुंचा पा रहा है।  

जिन इलाकों से पानी उतरा है वहां भी लोगों को दूषित पानी पीना पड़ रहा है। जिला प्रशासन का दावा है कि उसके पास 8 लाख क्लोरीन की गोलियां है, जिन्हें सीएचसी पीएचसी पर भेजा गया है, लेकिन वह लाखों गोलियां किस काम की, जब बाढ़ प्रभावित परिवार बूढ़ों बच्चों और महिलाओं को कई किलोमीटर का सफर तय करके पीने का पानी लाना पड़ रहा है।

प्रदेश सरकार के आदेश को अधिकारी पलीता लगाते नजर आ रहे हैं। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों का दावा है कि उनके पास बरसात के मौसम में पानी को साफ करने वाली 8 लाख क्लोरीन की गोलियां है, लेकिन बाढ़ प्रभावित इलाकों में लोग दूषित पानी पीने को मजबूर हैं।

जिला प्रशासन के तमाम दावे और तैयारियों पर बड़े सवाल खड़े कर रहे हैं। हकीकत में लोगों को शुद्ध पीने का पानी तक मुहैया नहीं कराया जा रहा और ना ही क्लोरीन की गोलियों का वितरण। ऐसे में ये कहना कि एक तरफ सीएम योगी निर्देश जारी कर रहे तो दूसरी तरफ प्रशासन उनके आदेशों की धज्जिया उड़ाने से बाज नहीं आ रही।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top