CAA के समर्थन में पीएम को ट्विटर कैंपन का सहारा 

0
24

डेस्क रिपोर्ट। नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) ऐसा कानून जिसके खिलाफ विरोध थमने का नाम नहीं ले रहा है। विपक्ष जहां इस मुद्दे को लेकर संसद से सड़को तक विरोध कर रही है। वहीं सरकार इस कानून के गलत प्रचार प्रसार को लेकर विपक्ष को जिम्मेदार मान रही है। इसके साथ ही इस कानून को लेकर जनता के बीच जो गलत सन्देश पहुंच रहा है। इसको दूर करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ट्विटर के जरिए सीएए के समर्थन में कैंपन की शुरुआत की है। 

बता दें कि पीएम नरेन्द्र मोदी ने अपने ट्विटर एकाउंट के जरिए सीएए के समर्थन में हैशटैग #IndiaSupportsCAA लिखकर कर कैंपन की शुरुआत की।  इसके साथ ही इन्होंने  लिखा कि सीएए कानून से देश के आम नागरिक का कोई लेना देना नहीं है। यह उन शरणार्थियों के लिए है,जो अपने देश में सताए गए है। वे भारत में शरण लिए हुए है। यह उनके लिए है। अपने इस अभियान को शुरु करने के साथ लोगों को इससे जुड़ने के लिए और इसके समर्थन आने के लिए जोर दिया। सीएए से जुड़े दस्तावेज के बारे में जानकारी देते हुए लिखा कि आप नमो एप्प पर इसके बारे में जानकारी हासिल कर सकते है।

पीएम नरेंद्र मोदी ने एक और ट्विट किया, जिसमे उन्होंने सदगुरु का एक वीडियो भी शेयर किया। साथ ही उन्होंने लिखा कि इनके इस वीडियों में ऐतिहासिक सन्दर्भों, भाईचारा और हमारी महान संस्कृति के बारे में बताया गया है।

नरेंद्र मोदी से लेकर गृह मंत्री  तक ने सीएए को लेकर संसद से जनसभाओं और मीडिया के माध्यम से उन्होंने कई बार बोल चुके है कि यह कानून देश केआम नागरिक के लिए नहीं है। इस कानून को लेकर पिछले दिनों  हिंसक प्रदर्शन को लेकर नरेंद्र मोदी ने अपने एक कार्यक्रम में बोले थे कि आपको अगर मुझसे समस्या है तो आप मेरा पुतला जला सकते है। मेरे फोटो पर जूता मार सकते है लेकिन देश की संपत्ति को बर्बाद करना सही नहीं है। अब यह देखना होगा कि पीएम नरेंद्र मोदी के द्वारा शुरु किया गया यह अभियान कितना सफल होता है।