अपना देश

कोरोना में भी काशी ने पेश की नजीर, पीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से जाना काशी का हाल

वाराणसी। कोरोना के इस संकटकाल के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी की जमीनी हकीकत जानने के लिए अफसरों और जनप्रतिनिधियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सीधा संवाद किया। उन्होंने काशी वासियों के धैर्य और मेहनत को सराहा और कहा कि या साबित होता है कि वाराणसी में आपदा के समय भी लोग आंसू नहीं बहाते बल्कि देश के साथ खड़े होते हैं। उन्होंने इस वैश्विक महामारी में वाराणसी प्रशासन और जनप्रतिनिधियों को काम को भी सराहा है।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अपने संसदीय क्षेत्र वाराणसी के अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए रूबरू हुए। यह पहला मौका था जब पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों से सीधा संवाद कर रहे थे। इस मौके पर मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा, नगर आयुक्त गौरांग राठी के अलावा सूबे के राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी और क्षेत्रिय विधायक भी मौजूद रहे। बैठक के बाद उत्तर प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने बताया कि लगभग दो से ढाई घंटे की बातचीत में पीएम काशी में विकास कार्यों को लेकर काफी संतुष्ट नजर आए।

उन्होंने बताया कि वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के दौरान प्रधानमंत्री ने जनप्रतिनिधियों और अधिकारियों से काशी के विकास के लिए उनका बहुमूल्य सुझाव भी मांगा। उन्होंने कहां की लॉकडाउन के बाद बनारस के साथ-साथ पूरे देश में विकास की परियोजनाएं चलाई जा रही हैं उनमें तेजी से कार्य किया जाए और इसके लिए कवायद की जा रही है। उन्होंने सेवापुरी ब्लाक को देश का मॉडल विकास खंड क्षेत्र बनाने के लिए अपने संकल्प को यहां के अधिकारियों और जनप्रतिनिधियों के साथ साझा किया।

Most Popular

To Top