वाराणसी

पीएम ने काशी और प्रयागराज को दी चौड़ी सड़क की सौगात, किया जनसभा को संबोधित

वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी प्रयागराज राजमार्ग के 6 लेन चौड़ीकरण परियोजना का उद्घाटन किया। इस दौरान उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ और उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्या भी मौजूद रहे। मिर्जामुराद के खजूरी जनसभा स्थल से पीएम ने रिमोट का बटन दबाकर इस परियोजना का शुभारंभ किया है। इस परियोजना से काशी और प्रयागराज की दूरी में कमी आएगी। पहले की अपेक्षा कम समय में लोग एक शहर से दूसरे शहर जा सकेंगे।

यह राजमार्ग स्वर्णिम चतुर्भुज परियोजना-एक (दिल्ली-कोलकाता गलियारे) का भी प्रमुख भाग है। पूर्व में, प्रयागराज से वाराणसी के बीच यात्रा में लगभग साढ़े तीन घंटे का समय लगता था। इस परियोजना के कारण यह दूरी मात्र डेढ़ घंटे में पूरी की जा सकेगी। आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक गत दो नवम्बर को पूरी हुई कुल 72.644 किलोमीटर की इस परियोजना की लागत 2,447 करोड़ रुपए है। प्रधानमंत्री ने इससे पहले, इसी माह डिजिटल माध्यम से वाराणसी की 614 करोड़ रुपए की विभिन्न परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया था।

कार्यक्रम स्थल पर जनसभा को संबोधित करते हुए पीएम ने कहा कि गुरु नानक जयंती और देव दीपावली के मौके पर वाराणसी की मूलभूत सुविधाओं में सुधार हो रहा है। इससे वाराणसी के साथ ही प्रयागराज को भी फायदा होगा। पिछले वर्षों में काशी के सौंदर्यीकरण के साथ-साथ हम अब कनेक्टिविटी पर किए गए कार्यों का लाभ देख सकते हैं। पीएम ने कहा कि नए राजमार्ग, फ्लाईओवर, ट्रैफिक जाम को कम करने के लिए सड़कों का चौड़ीकरण वाराणसी और इसके आसपास के इलाके किया जा रहा है।

उन्होंने कहा कि जब किसी क्षेत्र में कनेक्टिविटी में सुधार होता है, तो इससे वहां के किसानों को भी लाभ होता है। हाल ही में किसानों और अन्य कृषि गतिविधियों के लिए कोल्ड स्टोरेज का प्रोटेक्ट आया था, जिसके लिए एक लाख करोड़ रुपये का फंड दिया गया है। उन्होंने आगे कहा कि पहली बार वाराणसी के किसानों का उत्पादन बड़े पैमाने पर विदेशों में निर्यात हो रहा है। वाराणसी के लंगड़ा और दशहरी आम लंदन और मध्य पूर्व में अपनी खुशबू बिखेर रहे हैं। वहीं आम किसानों को अब पैकेजिंग के लिए दूसरे शहरों में जाने की जरूरत नहीं है।

Most Popular

To Top