NEW DELHI: अभी और रुलाएगा प्याज, दिसंबर तक ऐसे ही रहेंगे आसार

0
13

नई दिल्ली। एक बार फिर से प्याज के डैम आसमान छूने लगे हैं। दिल्ली के खुदरा बाजार में प्याज की कीमत 100 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गई है। इसी बीच केंद्रीय खाद्य एवं उपभोक्ता मामले के मंत्री राम विलास पासवान ने कहा है कि घरेलू स्तर पर प्याज के उत्पादन में 30-40 फीसदी की कमी है। यही वजह है कि प्याज के दाम बढ़ रहे हैं। प्याज के दाम में गिरावट के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा नवंबर आखिर या दिसंबर तक प्याज के दाम कम हो सकते हैं।

उपभोक्ता मामले मंत्रालय के सचिव अविनाश कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि 2019 के खरीफ सीजन में प्याज के उत्पादन गिरावट के साथ 20 लाख टन रहने का अनुमान है जबकि पिछले साल की समान अवधि में यह उत्पादन 30 लाख टन का था। उन्होंने कहा कि महाराष्ट्र सरकार की तरफ से अभी प्याज के उत्पादन का आंकड़ा नहीं दिया गया है, लेकिन बाढ़ की वजह से प्याज के उत्पादन में गिरावटआई है। दिल्ली के साथ प्याज खाने वाले देश के सभी भागों में प्याज के दाम में तेजी चल रही है।

राम विलास पासवान ने बताया कि मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों के साथ उन्होंने प्याज के दाम की समीक्षा की है। प्याज के उत्पाद एवं आपूर्ति के बारे में भी विस्तृत चर्चा की गई। उन्होंने बताया कि प्याज के उत्पादन में 30-40 फीसदी की कमी के कारण प्याज के दाम में तेजी दर्ज की गई है। उन्होंने कहा कि किसी वस्तु की कीमत उसकी मांग एवं आपूर्ति पर निर्भर करती है और फिलहाल मांग के मुकाबले आपूर्ति कम है। उन्होंने बताया कि मॉनसून में देरी से खरीफ सीजन के लिए प्याज की बुवाई बाद में की गई, वहीं कई राज्यों में बाढ़ की वजह से फसल खराब हो गई, जिसके कारण प्याज के दामों में ये बढ़ोतरी देखने को मिल रहे है और हालात अभी दिसंबर तक ऐसी ही बने रहने की संभावना है।