अपना देश

भारत को डिजिटल इंडिया बनाने के संकल्प की ओर जियो का एक और कदम, हुआ छठा बड़ा निवेश

ब्यूरो डेस्क। तेजी से बढ़ रही रिलायंस इंडस्ट्रीज की जियो प्लेटफॉर्म्स में इंवेस्टमेंट के लिए विदेशी निवेशकों का तांता लगा लगा हुआ है। पिछले 6 हफ्तों में छठा बड़ा इंवेस्टमेंट मिला है। आबू धाबी की मुबाडला इंवेस्टमेंट कंपनी ने 1.85% इक्विटी के लिए जियो प्लेटफॉर्म्स में 9,093.60 करोड़ रुपये के निवेश की घोषणा की है। मुबाडला ने जियो प्लेटफॉर्म्स की इक्विटी वैल्यू 4.91 लाख करोड़ रुपये आंकी है। फेसबुक के इंवेस्टमेंट के साथ, जियो प्लेटफॉर्म्स में निवेश का जो सिलसिला शुरू हुआ था वह थम नही रहा है। अब तक कुल 6 बड़े इंवेस्टर्स द्वारा जियो प्लेटफॉर्म्स में कुल 87,655.35 करोड़ रुपये का निवेश हो चुका है। सबसे पहले फेसबुक निवेश ले कर आया। उसके बाद विश्व के अग्रणी निवेशक सिल्वर लेक, विस्टा इक्विटी पार्टनर्स, जनरल अंटलांटिक, केकेआर और अब मुबाडला इंवेस्टमेंट कंपनी।

जियो प्लेटफॉर्म्स, रिलायंस इंडस्ट्रीज़ लिमिटेड की फुली ओन्ड सब्सिडियरी है। ये एक नेक्स्ट जनरेशन टेक्नॉलोजी कंपनी है, जो भारत को एक डिजिटल सोसायटी बनाने के काम में मदद कर रही है। इसके लिए जियो के प्रमुख डिजिटल एप, डिजिटल ईकोसिस्टम और भारत के नंबर 1 हाइ-स्पीड कनेक्टिविटी प्लेटफ़ॉर्म को एक-साथ लाने का काम कर रही है। रिलायंस जियो इंफ़ोकॉम लिमिटेड, जिसके 38 करोड़ 80 लाख ग्राहक हैं, वो जियो प्लेटफ़ॉर्म्स लिमिटेड की होल्ली ओन्ड सब्सिडियरी बनी रहेगी।

रिलायंस इंडस्ट्रीज के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक मुकेश अंबानी ने कहा है कि, मुझे खुशी है कि दुनिया की सबसे बेहतर और परिवर्तनकारी निवेशकों में से एक मुबाडला हमारे साथ पार्टनरशिप का फैसला किया है। वह भारत को डिजिटल राष्ट्र बनाने की हमारी यात्रा का हमसफर बनेंगे। अबू धाबी के साथ मेरे लंबे समय से संबंध हैं और मैनें देखा है कि यूएई की ज्ञान-आधारित अर्थव्यवस्था को दुनिया से जोड़ने और विविधता के रंग भरने में मुबाडाला ने जबरदस्त काम किया है। हम मुबाडाला के अनुभव से लाभान्वित होने के लिए तत्पर हैं। वहीं मुबाडला इन्वेस्टमेंट कंपनी के प्रबंध निदेशक और समूह के सीईओ, खलदून अल मुबारक ने कहा कि हमने देखा है कि कैसे जियो ने भारत में संचार और कनेक्टिविटी को बदल दिया है, और एक निवेशक और भागीदार के रूप में, हम भारत की डिजिटल विकास यात्रा को समर्थन देने लिए प्रतिबद्ध हैं।

बता दें कि मुबाडाला के पोर्टफोलियो में एडवांस मैन्युफैक्चरिंग, सेमीकंडक्टर, धातु और खनन शामिल हैं, दवा और चिकित्सा प्रौद्योगिकी, रेन्युबल एनर्जी एवं युटिलिटिस, एरोस्पेस और विविध वित्तीय होल्डिंग्स का प्रबंधन शामिल है। जियो एक ऐसे डिजिटल भारत का निर्माण करना चाहता है, जिसका फ़ायदा 130 करोड़ भारतीयों और व्यवसायों को मिले। एक ऐसा डिजिटल भारत जिससे खास तौर पर देश के छोटे व्यापारियों, माइक्रो व्यवसायिओं और किसानों के हाथ मज़बूत हों। जियो ने भारत में डिजिटल क्रांति लाने और भारत को दुनिया की सबसे बड़ी डिजिटल ताकतों के बीच अहम स्थान दिलाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है।

Most Popular

To Top