स्टेशन पर तड़पता रहा मासूम, नहीं पहुंचे डॉक्टर साहब

0
33

रिपोर्ट: मो.अफजल

चन्दौली। पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन पर इंसानियत को शर्मसार करने वाली घटना उस वक्त सामने आई, जब पांच साल का मासूम बुखार से घंटे भर तड़पता रहा और एक घंटा बीत जाने के बाद उसे इलाज के नाम पर वार्ड ब्वाय के हाथों एक टेबलेट मिली।

हम बात कर रहे हैं उस यात्री मोहन झा की जो कर्मभूमि एक्सप्रेस से दिल्ली से बिहार की यात्रा कर रहा था। यात्रा के दौरान उसके लगभग पांच साल के बच्चे की अचानक तबीयत बिगड़ने पर परिवार के सदस्यों ने ट्रेन छोड़ दिया और इसकी सूचना डिप्टी एसएस को दी। डिप्टी एसएस के मेमो देने के करीब एक घंटे बाद पहुंची मेडिकल टीम में डॉक्टर नदारद रहा, जिसे देख बच्चे के परिजनों ने नाराजगी जाहिर की।

करीब एक घंटे की देरी से पहुंचे मेडिकल टीम में महज एक वार्ड ब्वाय और ड्रेसर मौके पर पहुंचे और बुखार से पीड़ित बच्चे को अपनी जानकारी के अनुसार दवाइयां दी। उसके बाद बच्चे को अपने साथ मंडल लोको अस्पताल ले गए। हैरानी की बात यह है कि सूचना के एक घंटे बीत जाने के बाद भी टीम में कोई डॉक्टर मौजूद नहीं रहा।