BIRTHDAY SPECIAL: हिंदी सिनेमा के पहले सुपरस्टार थे ‘काका’

0
25

ब्यूरो डेस्क। हिंदी सिनेमा के पहले सुपरस्टार और काका के नाम से सुप्रसिध्द राजेश खन्ना ​आज भी लोगों के दिलों में जिंदा हैं। उनका बोला हुआ ये डॉयलाग ‘पुष्पा आई हेट टियर्स’ आज भी लोगों के जुबान पर रहता हैं। इन्होंने हिंदी सिनेमा में अनेकों फिल्में की थी, जिन्हें लोग आज भी पसंद करते हैं।

राजेश खन्ना का जन्म 29 दिसम्बर 1942 को पंजाब के अमृतसर शहर में हुआ था। इनका पालन पोषण इनके माता-पिता ने नहीं बल्कि इनकेे चाचा चुन्नी लाल ने इन्हें गोद ले​कर किया। अपने चाचा के कहने पर ही इन्होंने अपना नाम जतिन से राजेश खन्ना रखा। इनकी प्रारंभिक शिक्षा सेंट सेबेस्टियन्स गोन हाई स्कूल से हुई। इन्होंने अपने स्कूली दिनों से ही थियेटर करना शुरू कर दिया था। 23 साल की उम्र में पहली फिल्म आखिरी खत’ से फिल्मों में कदम रखा, लेकिन 1969 में आराधना’ फिल्म से इन्हें ​असली पहचान मिली। इन्होंने 1972 तक कई सुपरहिट फिल्में दी जिसके बाद इन्होंने सफलता की बुलंदिया छूई। राजेश खन्ना ने डिंपल कपाड़िया से 1973 में विवाह किया। लेकिन इनकी ये शादी ज्यादा दिनों तक नही चली और 1984 में ये दोनों अलग हो गए।

राजेश खन्ना हिंदी फिल्मों में अभिनय के साथ फिल्मों का निर्माण और राजनीति में भी थे। इन्होंने 163 फीचर फिल्म, तो वही 17 शार्ट फिल्मों में काम किया। इन्हें मिले पुरस्कारों की हम बात करें तो तीन बार फिल्मफेयर सर्वश्रेष्ठ अभिनेता का पुरस्कार जीता, तो वही 14 बार इस अवार्ड के लिए चुने गए। इन्हें 4 बार बीएफजेए पुरस्कार से नवाजा गया, तो वही 25 बार इसके लिए चुने गए। इन्हें फिल्मफेयर लाइफटाइम अचीवमेंट अवार्ड 2005 में दिया गया। 

राजेश खन्ना की मृत्यु 18 जुलाई 2012 में मुंबई के उनके बंगले, आशीर्वाद में हुई थी। इनके अंतिम विदाई में 10 लाख से भी ज्यादा चाहने वाले शामिल हुए थे। भले ही काका आज हमारे बीच में नहीं है, लेकिन आज भी उनकी यादें उनके चाहने वालों के दिलों में बसती हैं।