गोरखपुर। यूपी में इन दिनों अपराध का ग्राफ एकबार फिर चढ़ता नजर आ रहा है। अभी हाल में ही कानपुर में लैब असिस्टेंट की अपहरणकर्ताओं ने हत्या कर दी थी, जिसके बाद पुलिसिया लापरवाही के तहत सीएम योगी ने चार अधिकारियों को निलंबित कर दिया था। एक बार फिर फिरौती की मांग के बाद 14 साल के किशोर की हत्या कर दी गई और पुलिस बच्चे तक पहुंचने में नाकाम साबित हो गयी। ताजा मामला सीएम योगी के गढ़ गोरखपुर का है।

बता दें कि गोरखपुर के पिपराइच इलाके के जंगल छत्रधारी, टोला मिश्रौलिया से रविवार को 14 वर्षीय किशोर का अपहरण कर अपहरणकर्ताओं ने फिरौती में एक करोड़ की मांग की। किशोर के पिता पान व्यवसायी इस बात की सूचना परिजनों ने पुलिस को दी, जिसके बाद बच्चे की तलाश में पिपराइच पुलिस और क्राइम ब्रांच के साथ ही एसटीएफ भी लग गयी थी, लेकिन इसी बीच एक करोड़ की फिरौती लेने के बाद किशोर की अपहरणकर्ताओं ने हत्या कर दी। इस बात की सूचना के बाद इलाके में सनसनी फ़ैल गयी।

वहीं पुलिस ने इस मामले में एक अभियुक्त को गिरफ्तार किया है, जिसकी निशानदेही पर नहर पास से किशोर के शव को बरामद कर लिया है। अभियुक्त ने पूछे जाने पर बताया कि घबराहट में रविवार को ही किशोर की हत्या कर दी थी। मामले को उलझाने के लिए एक करोड़ की मांग किया गया था। पुलिस ने किशोर के शव को पोस्मार्टम के लिए भेज दिया है। इस मामले में अभी भी तीन लोग फरार चल रहे हैं।

एक मां की कोख फिर चढ़ी जंगलराज की भेंट, अपहरण के बाद किशोर की हत्या
To Top