अपना प्रदेश

बनारसी चुटकी: ‘आई त लिखाई’, इंस्‍पेक्‍टर ने सीज की बुलेट बोले, ‘लिखाई तब थाने से जाई’

वाराणसी।अक्सर लोगों के वाहन में यातायात नियमों की अनदेखी कर तमाम चीजें लगायी और लिखी जाती है। सोमवार को इसी चक्कर में एक व्यक्ति की बाइक थाने पहुंच गयी। इस दौरान जो कुछ हुआ वह खासा चर्चा का विषय बना हुआ है। पढ़िए पूरा माजरा –

दरअसल हुआ यह कि भेलूपुर थाना प्रभारी राजीव रंजन उपाध्याय पुलिसकर्मियों के साथ अस्सी क्षेत्र में बैंक की जांच करने पहुंचे थे। उसी दौरान वाहनों की भी जांच की जा रही थी कि तभी एक व्यक्ति नयी बुलेट गाड़ी के साथ नजर आया। उसके नम्बर प्लेट पर नम्बर की जगह लिखा था कि ‘आई त लिखाई’। यह देख थाना प्रभारी ने युवक से जब इस तरह का स्लोगन लिखने की वजह पूछी तो उसने बताया कि अभी रजिस्ट्रेशन नम्बर नहीं आया है। क्योंकि हमारी मातृ भाषा हिन्दी है इसलिए उसने हिन्दी में लिखवा दिया कि आई त लिखाई। मतलब नम्बर आयेगा तो लिखवा देगा।

इसके बाद क्या था इंस्पेक्टर ने भी बाइक को यह कहते हुए सीज करा दिया कि ‘नम्बर लिखाई त जाई’। कुछ देर बाद जिसकी बाइक सीज हुई थी उसके पैरोकारों के भी फोन आने लगे जो बाइक को छोड़ने का दबाव बना रहे थे मगर इंस्पेक्टर भेलूपुर ने यह कह कर उनको मना कर दिया कि बाइक का रजिस्ट्रेशन नंबर लेकर आएं यहीं पर गाड़ी पर नंबर चढ़वाएं फिर यहां से गाड़ी ले जाएं।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top