अंतरराष्ट्रीय

कोरोना के कहर से ईरान में फंसे भारतीय छात्र, घर वापसी को नहीं मिल रही फ्लाईट

लखनऊ। चीन में कोरोना वायरस के कहर से दुनिया का हर कोना प्रभावित हुआ है। इसका असर ईरान में भी देखने को मिला है। अबतक ईरान में जान गंवाने वालों की संख्या बढ़कर 54 हो गई है। एक तरफ जहां सरकार ने चीन से एयर लिफ्ट करके सैकड़ों लोगों को भारत वापस लाया है तो वहीं कुछ लोग अन्य देशों में भी फंसे हुए हैं। इस्लामिक शिक्षा हासिल करने ईरान गए छात्र भारत वापस आने के लिए सरकार से मदद की गुहार लगा रहे हैं, क्योंकि वापस आने के लिए उन्हे फ्लाईट नहीं मिल रही है।

जानकारी के मुताबिक करीब 800 से ज्याद छात्र इस्लामिक शिक्षा के लिए ईरान गए हुए हैं। कोरोना का ऐसा कहर बरपा कि ईरान ने अपने अंतरराष्ट्रीय उड़ान पर अंकुश लगा दिया है, जिससे भारत आने के लिए छात्रों को काफी परेशानी उठानी पड़ रही है। इतना ही नहीं ईरान के रौजो की जियारत पर गए लोगों की भी मुश्किलें बढ़ गई हैं। ऐसे में वहां फंसे लोगों ने सरकार से अपील की है कि जैसे चीन से एयर लिफ्ट कर भारतीय लोगों को बचाया गया था वैसे ही ईरान में फंसे भारतीयों को भी सरकार वापस मुल्क लौटने में मदद करे।

बता दें कि चीन के बाद ईरान ही वह देश है जहां सबसे ज्यादा मौतें हुई हैं। दो दिन पहले लंदन स्थित बीबीसी फारसी ने ईरान में 210 लोगों की मौत होने की बात कही थी। उसका दावा है कि उसने यह आंकड़े अस्पताल स्रोतों से जुटाए हैं। हालांकि ईरान के स्वास्थ्य मंत्रालय ने इसे बेबुनियाद बताया है। ईरान के आधिकारिक डॉटा के मुताबिक संक्रमित लोगों में से सात फीसद की मौत हो चुकी है। यह चीन के मुकाबले लगभग दोगुना है।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top