अपना प्रदेश

दो सरकारों के बीच में फंसा राजकीय मेडिकल कॉलेज

जौनपुर। राजकीय मेडिकल कालेज सिद्दीकपुर का शिलान्यास 25 सितंबर 2014 को पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने किया था। मेडिकल कालेज के लिए 554 करोड़ रूपये की  लागत से 55 एकड़ में निर्माण कार्य चल रहा है, लेकिन बीजेपी सरकार के आने से निर्माण कार्य आधे में अटका हुआ है।

सपा सरकार ने शुरू में राजकीय मेडिकल कॉलेज के निर्माण के लिए 137 करोड़ रुपये जारी किये थे। जिससे शुरुआती दौर में कार्य काफी तेजी से चल रहा था। करीब एक हजार श्रमिक काम कर रहे थे। इसकी ओपीडी एक वर्ष में चालू करने का तत्कालीन सपा सरकार ने दावा किया था, लेकिन जैसे ही वर्ष 2014 में सरकार बदली तो धीरे धीरे इसके कामों में ढ़ीलाई शुरू हो गई। निर्माण कार्य आईसीयू में पहुंच गया।

इसके पीछे की सबसे बड़ी वजह है धन का अभाव है। योगी सरकार ने अब तक इस भारी भरकम प्रोजेक्ट के लिए मात्र 80 करोड़ रुपये ही जारी किए हैं, जबकि प्रोजेक्ट में कुल 800 करोड़ रुपये से ज्यादा की आवश्यकता है। आधे से ज्यादा काम हो चुका है, लेकिन धन के अभाव में काम की रफ्तार ठप सी पड़ गई है।

बालाजी कंपनी के एमडी जिंसाल अली ने कहा कि हमने सरकार से 168 करोड़ रुपये की मांग की है। अगर शासन पैसा देता है तो हम दिसम्बर तक काम पूरा कर के दे देगें। यदि रिवीजन रेट नहीं आता हैं तो काम पूरा नहीं हो पाएगा।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top