वाराणसी

इस नवरात्र कोरोना रूपी राक्षस का वध कैसे करेंगी माँ दुर्गा?

वाराणसी। काशी में हर त्यौहार का अपना खासा महत्व है,वहीं इसबार कोरोना महामारी ने बनारस के हर त्यौहार का रंग फीका कर दिया है। इसी क्रम में शारदीय नवरात्र भी कोरोना के जद में आता दिखाई दे रहा है। जहाँ हर बार मूर्तिकार नवरात्र के काफी समय पहले से माता की मूर्ति बनाने में जुट जाते थे। आज वही खाली बैठे हैं। हर साल लोगों में इस त्यौहार को लेकर उत्साह दिखाई देता था लेकिन इस बार कोरोना ने सब पर ग्रहण लगा दिया है।

बता दें कि वाराणसी में हर वर्ष नवरात्र में दुर्गा पूजा का बड़ा आयोजन किया जाता है लेकिन इस बार कोरोना के कारण इस आयोजन पर भी ग्रहण लगता दिखाई दे रहा है। जो मूर्तिकार दो महीने पहले से ही माँ की मूर्ति बनाने में जुट जाते थे वो आज खाली बैठे हैं। उनके पास जहां सैकड़ों मूर्तियों के निर्माण के आर्डर आते थे वो अब तक बस उम्मीद में हैं कि शायद कुछ ठीक हो और उन तक माँ की प्रतिमा बनाने का आर्डर आ जाये।

गौरतलब है कि शारदीय नवरात्र में पूरे बनारस में तरह तरह के भव्य पंडाल और माँ की प्रतिमा बनाई जाती है, जिसको देखने के लिए सैकड़ों की भीड़ दुर्गा पूजा में घूमने के लिए आती है। वहीं इस बार हर तरफ सन्नाटा पसरा हुआ है। बताते चले कि यहां हर साल लगभग पांच सौ से ज्यादा पूजा पंडाल बनाये जाते हैं। शायद यही वजह है कि बनारस की दुर्गा पूजा मिनी कोलकाता के नाम से भी प्रसिद्ध है। वहीं इसबार कोरोना का साया इस त्यौहार की रौनक पर अपना ग्रहण लगाता नजर आ रहा है।

Most Popular

To Top