HEALTH TIPS: ठंड सताए तो किचन में ही मिल जाएंगी दवाएं 

0
99

रिपोर्ट- सौम्या

वाराणसी। सर्दियों के शुरू होते ही लोगों को कई तरह की बिमारियों से दो चार होना है पड़ता है। जोड़ो का दर्द हो या फिर बार-बार सर्दी जुकाम की समस्या। ऐसे में व्यक्ति को डॉक्टर के पास जाना पड़ता है। इन समस्याओं का समाधान आपकी रसोई में है। आज हम आपको आपके घर की रसोई की उन विशेषताओं के बारे में बताएंगे जिसके बारे में शायद ही आपको सब को मालूम होगा। 

भारतीय रसोई किसी औषधालय से कम नहीं है। जोड़ों में होने वाले दर्द के लिए सोंठ, अजवाइन, दालचीनी, तेजपत्ता, हल्दी, मेथी और लहसुन काफी उपयोगी हैं।अगर किसी को जोड़ों में दर्द रहता है तो वह दालचीनी पाउडर 10 ग्राम की मात्रा में लेकर 30 एमएल सरसों या तिल के तेल में अच्छी तरह से पकाकर मालिश करने से काफी लाभ होता है। किसी को आमवात है तो इसकी मालिश नहीं करनी चाहिए। जोड़ो में दर्द, सूजन के साथ ही साथ कार्टलेिज डिजनरेशन हो रहा हो तो वह 50 ग्राम हल्दी पाउडर, 30ग्राम मेथी पाउडर और 10 ग्राम सोंठ पाउडर लेकर मिशण्र बना लें । तीन-तीन  ग्राम सुबह शाम लेने से लाभ होगा।

किसी को बार-बार सर्दी-जुकाम रहता है तो वह एक ग्राम दालचीनी, 250 मिलीग्राम काली मिर्च और 125 मिलीग्राम पिपली के चूर्ण को शहद के साथ सुबह शाम लेने से काफी आराम मिलता है। सर्दियों में च्यवनप्राश का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए। च्यवनप्राश हमारे शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है। सर्दियों में श्यामा तुलसी 11 पत्ते, अदरक 3 ग्राम, 2 गोल काली मिर्च, एक ग्राम हल्दी और गुड़ से बनाया काढ़ा काफी फायदेमंद होता है। इसका नियमित सेवन करें। गर्भवती महिलाओं को यह चिकित्सक के सलाह से लेना चाहिए। अगर आप ठंड में यात्रा करते हैं तो अपने साथ अजवाइन जरूर रखें। अजवाइन की चाय भी जोड़ों  के दर्द, सर्दी जुकाम, पेट दर्द, और गैस की समस्याओं में लाभ पहुंचाती है।