अपना प्रदेश

हो जाएं सावधान वर्ना बाद में पड़ सकता है रोना, गाजीपुर की सड़कों पर घूम रहा कोरोना

गाजीपुर। जिले में कोरोनावायरस का प्रकोप दिन प्रतिदिन बढ़ता ही जा रहा है। लेकिन उससे भी चिंता का विषय यह है कि कुछ कोरोना के मरीज लापता हो चुके हैं, या यूं कहें कि उन्होंने अपना पता और फोन नंबर गलत दर्ज कराया था। जिसके बाद उन्हें ढूंढ पाना अब घास के ढ़ेर में सुई ढूंढने के बराबर हो चुका है।

जानकारी के मुताबिक गाजीपुर जनपद में एक दो नहीं बल्कि 42 कोरोना संक्रमित मरीज गायब हो चुके हैं। उनके बारे में किसी को भी कुछ पता नहीं है। स्वास्थ्य विभाग की माने तो इन मरीजों को अभी तक ट्रेस नहीं किया जा सका है। वजह है कि या तो इन्होंने मोबाइल नंबर गलत दिया है या सैम्पल देते समय जानकारी गलत दी है। सीएमओ डॉक्टर के के वर्मा ने बताया कि जैसे ही लोगों को पता चलता है कि उन्हें संक्रमण ने जकड़ लिया है। वैसे ही, वह अपना मोबाइल बंद कर लेते हैं। कई ऐसे भी लोग हैं जो अपना पता गलत बताते हैं। ऐसी घटना है लगभग 2 हफ्ते से लगातार हो रही है।

हालांकि स्वास्थ विभाग की नाकामी साफ-साफ दिख रही है। क्योंकि जब संक्रमित मरीज अपना सैम्पलिंग करवाने के लिए आता है तो, लापरवाही के कारण उनका आधार कार्ड अथवा वोटर आईडी कार्ड चेक नहीं किया जाता। इस वजह से वह अपना पता गलत बता देते हैं और इसके बाद जब रिपोर्ट पॉजिटिव आती है तो वह गायब हो जाते हैं। इसके बाद स्वास्थ विभाग अपनी नाकामी का ठीकरा संक्रमित लोगों के ऊपर फोड़ता है।

हो जाएं सावधान वर्ना बाद में पड़ सकता है रोना, गाजीपुर की सड़कों पर घूम रहा कोरोना
To Top