अपना प्रदेश

सरकार ने शुरू की ये योजना, अब किसान पालेंगे आवारा पशु

गाजीपुर। जिले में मुख्यमंत्री निराश्रित योजना के तहत अब बेसहारा गोवंश के भी अच्छे दिन आने वाले हैं। किसानों की लहलहाती फसल के बर्बादी के जिम्मेदार आवारा पशुओं को पालने के लिए सरकार इसका खर्च वहन करेगी। जो किसान गोवंश का पालन करेंगे, उन्हे अब डीबीटी के माध्यम से फंड दिया जाएगा।

निराश्रित पशुओं का जो किसान पालन करेंगे उनको डीबीटी या डॉयरेक्ट बैंक ट्रांसफर के माध्यम से 900 रुपये प्रति माह प्रति पशुओं के हिसाब से दिया जाएगा। अब तक अलग-अलग तहसीलों से कुल 269 आवेदन किए गए है। एक किसान अधिकतम चार गोवंश को पाल सकता है। इस तरह 1076 गोवंश को नया सहारा मिल जाएगा। सरकार की इस योजना से निराश्रित पशुओं से परेशन किसान अब उसी गोवंश को पालेंगे।

गाजीपुर में अभी कुल 27 गोवंश आश्रय स्थल संचालित हैं। इसमें 18 ग्रामीण व आठ नगरीय क्षेत्रों में हैं। वहीं एक कांजी हाउस है। 1378 संरक्षित और 1926 निराश्रित पशु चिन्हित किए गए हैं। इस योजना के शुरू करने के पीछे कई वजह थी, क्योंकि निराश्रित पशुओं की बढ़ती संख्या से किसान की फसलों को काफी नुकसान पहुंच रहा था।

जिलाधिकारी ने इच्छुक किसानों व पशुपालकों को चिह्नित करने के बाद डीबीटी के जरिए किसानों के खाते में 30 रूपये प्रति गोवंश रोज के हिसाब से भुगतान किया जाएगा। इस मामले में उपमुख्य पशु चिकित्सा अधिकारी डॉ रविंद्र प्रसाद ने बताया कि अब तक जिले में  अलग-अलग तहसीलों से 269 आवेदन प्राप्त हुए हैं, जिनके हस्तांतरण की प्रक्रिया चल रही है। वहीं जिलाधिकारी के बालाजी ने बताया कि लगातार आवेदन प्राप्त हो रहे हैं। हम जल्द ही निर्धारित लक्ष्य प्राप्त कर लेगें।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top