RBI के नाम पर फर्जी कंपनी ने निवेशकों के 35 करोड़ हड़पे, 11 के खिलाफ FIR

0
42

वाराणसी। आरबीआई के नाम पर फर्जी कंपनी द्वारा निवेशकों के 35 करोड़ रूपये हड़पने का मामले प्रकाश में आने के बाद पुलिस ने 11 लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया है। निवेशकों की शिकायत पर सिगरा पुलिस इस पूरे मामले की जांच पड़ताल में जुटी हुई है।

मिली जानकारी अनुसार चोलापुर थानान्तर्गत दशनीपुर लमही निवासी राजकुमार सिंह व सारनाथ निवासी चंद्र माली मौर्य व केशव मौर्य ने आरोप लगाया है कि सिगरा थाना क्षेत्र के बीसी टावर शास्त्री नगर में केएमजे लैंड डेवलपर्स इंडिया नामक कंपनी ने निवेशकों को बताया कि आरबीआई के प्रमाण पत्र पर कंपनी वित्तीय कारोबार करती है। पुलिस को दी शिकायत में राजकुमार सिंह ने बताया कि वह खुद इस कंपनी में एजेंट के रूप में कार्यरत थे। उन्होंने आरोप लगाया कि निवेशकों का ₹350000000 कंपनी में कार्यरत डॉयरेक्टर व अन्य अधिकारी ने निवेशकों का पैसा हड़पने के उद्देश्य से एक नई फर्जी कंपनी लोकहित भारती क्रेडिट कोऑपरेटिव सोसायटी लिमिटेड संत मन कांप्लेक्स सोनिया रोड सिगरा में पूरा पैसा ट्रांसफर कर दिया।

उनका कहना रहा कि इसी संदर्भ में सिगरा थाने में मुकदमा संख्या 484 ऑब्लिक 2018 में मुकदमा दर्ज है। इतनी बड़ी रकम कंपनी द्वारा हड़पे जाने के बाद राजकुमार सिंह ने 11 लोगों, जिनमें ग्वालियार निवासी संतोष कुमार राठौर, आगरा निवासी गोपाल गुप्ता, ग्वालियर निवासी सुनील सिंह,दिलीप कुमार जैन,सत्येंद्र सिंह सिकरवार,मनोज कुमार सविता,जय प्रकाश नायक, राजेंद्र बाबू, महेश कुमार सोलंकी, रविकांत आरोलिया,दिल्ली निवासी सैयद राशिद के खिलाफ नामजद मुकदमा धारा 406, 419, 420 के तहत सिगरा थाने में दर्ज कराया है। इस संदर्भ में सिगरा थाना प्रभारी आशुतोष कुमार ओझा ने बताया कि मामले की जांच पुलिस कर रही है।