वाराणसी

कोरोना अपडेटः शहर के प्रतिष्ठित क्लब में आबकारी का छापा, जाने पूरा मामला

वाराणसी। जिले के कैंटोमेंट इलाके में एक प्रतिष्ठित क्लब में आबकारी विभाग ने छापेमारी की है। आशंका जताई जा रही है कि यहां से शराब की तस्करी हो रही थी, जिसको लेकर शिकायत के बाद आबकारी विभाग ने छापेमारी की है। इसके अलावा आबकारी विभाग को ऐसे कई सबूत भी मिले हैं।

वाराणसी के कैंटोंमेंट इलाके में स्थित पीएनयू क्लब में आबकारी विभाग ने शराब की सूचना पर छापेमारी की है। लगातार आबकारी विभाग को शिकायत मिल रही थी, जिसके बाद यह कार्रवाई की गई है। दरअसल इस क्लब के पूर्व सचिव रह चुके अशोक वर्मा हैं, जबकि दूसरी तरफ क्लब के कुछ सदस्यों का कहना है कि वह जबरदस्ती सचिव बने हैं और क्लब पर कब्जा जमाए हैं। लॉक डाउन में इस क्लब के द्वारा गरीबों में राहत सामग्री बांटी जा रही थी। जबकि क्लब के कुछ सदस्यों की माने तो यहां राहत सामग्री के नाम पर कुछ और ही खेल चल रहा था और वह खेल था शराब का। सूत्र बताते हैं कि यहां शराब बेचने का काम चल रहा था। इसकी पुष्टि तब हुई जब कुछ दिन पूर्व चौकाघाट स्थित एक गोदाम पर आबकारी विभाग ने छापा मारा और एक व्यक्ति को हिरासत में लिया, जो इस क्लब से संबंधित है। प्रमाण के तौर पर क्लब में बोरे में बंद खाली बोतल भी मिला है। इससे यह साबित होता है कि क्लब में ना सिर्फ शराब बेची जा रही थी बल्कि शराब परोसी भी जा रही थी।

आश्चर्य तो तब हुआ जब न जाने किस अधिकारी के आदेश पर क्लब के कथित सचिव ने अपने कुछ चुनिंदा लोगों के साथ मिलकर पुलिस वालों की थर्मल स्कैनिंग करनी शुरू कर दी। इसमें कथित रूप से पूर्व सचिव अशोक वर्मा का तथाकथित फोटो सोशल मीडिया पर वायरल भी हुआ है। जिसमें पूर्व सचिव अशोक वर्मा को शहर के अलग-अलग इलाकों में पुलिस कर्मियों का गैरकानूनी रूप से थर्मलस्कैनिंग करते हुए देखा जा सकता है। ऐसे में सबसे बड़ा सवाल यहां यह उठता है कि जिला प्रशासन या स्वास्थ्य अधिकारी के बिना अनुमति के ये अधिकार किसी को नहीं है तो फिर किस बिना पर अशोक वर्मा इन पुलिस कर्मियों का थर्मल स्कैनिंग किये। ऐसे में लाज़मी है कि प्रशासन स्तर पर इसकी जांच होनी चाहिए।

फिलहाल आबकारी विभाग की छापेमारी से यह कहना गलत नहीं कि एक प्रतिष्ठित क्लब में राहत सामग्री बांटने के नाम पर शराब बेचने का गोरखधंधा किया जा रहा था। क्लब के सदस्यों की माने तो लॉक डाउन के बाद से क्लब की सीसीटीवी की फुटेज को खंगालने पर यह साबित भी हो जाएगा।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top