अपना प्रदेश

प्रशासन की उदासीनता के कारण नहीं मिल पा रहा सस्ते दामों पर प्याज

बलिया। आम आदमी के किचन से प्याज गायब हो चुका है। प्याज के आसमान छू रहे भाव से लोगों को राहत देने के लिए यूपी के बलिया में बाजार हस्तक्षेप योजना के तहत  प्रशासन द्वारा स्टाल लगाकर  37 रुपये किलो की दर से प्याज बेचा जा रहा है। वहीं अधिकारियों और कुछ लोगों की मिली भगत के कारण अब तक इस बात की खबर आम आदमी तक ठीक से नही पहुंच पाई है, इसलिए आम आदमी की पहुंच से अब भी प्याज दूर है।

डीएम कार्यालय के सामने लाईन में खड़े ये लोग किसी ट्रेन के टिकट के लिए नहीं खड़े हैं, बल्कि ये  सस्ते दर पर बिक रहे प्याज को खरीदने के लिए लोगों की कतार है। यह नजारा यूपी राज्य औद्योगिक सहकारी विपरण संघ (हाफेड) के बाजार हस्तक्षेप योजना के तहत प्याज विक्रय केंद्र पर 37 रुपये किलो की दर से बिक रहे सरकारी प्याज की सरकारी दुकान का है। जहां लोग लाइनों में लग कर सस्ते कीमत पर प्याज खरीदने में जुटे हुए हैं ।

लोगों का कहना है कि सरकार यह अच्छा प्रयास कर रही है, जो कि सराहनीय है। एक बार प्रचार-प्रसार अगर करवा दिया जाए तो शायद आम जनता जान जाए कि यह इस दिन मिलने वाला है तो ऐसी सूरत में सबको प्याज मिल जाएगा। सरकार द्वारा प्याज हस्तक्षेप योजना के तहत बेचने का मकसद है कि सस्ते दर पर आम लोगों तक प्याज पहुंच सके।

उद्यान विभाग के इंस्पेक्टर की माने तो प्याज का रेट बाजार में 50 रुपये से ऊपर का मिल रहा है ऐसी स्थिति में सरकार ने ये फल की है। हमें अपने उद्यान विभाग के निदेशालय से ऐसा निर्देश मिला है कि यह प्रयास करिए कि एक संदेश जाए जनता में की हम कम रेट पर प्याज दे रहे हैं और उसको प्रचार-प्रसार से खुलवाईये और,कम से कम रेट पर प्याज उपलब्ध करवाइए तो हम बाजार में हस्तक्षेप योजना के अंतर्गत यह प्याज मात्र 37 रूपये प्रति किलो की दर से आम जनता को उपलब्ध करवा रहे हैं।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top