वाराणसी

DRI ने फिर किया कमाल, करोड़ों के गांजे के साथ 2 तस्करों को दबोचा

वाराणसी। तस्करों के खिलाफ अभियान चलाने वाली डीआरआई की वाराणसी यूनिट को एक बार फिर बड़ी सफलता मिली है। डीआरआई वाराणसी की टीम ने करोड़ों रुपए के गांजे की रिकवरी की है। इस दौरान डीआरआई के साथ दो तस्कर भी लगे हैं। गांजे की तस्करी के बदले मिलने वाले पैसे को नक्सल गतिविधियों में इस्तेमाल किया जाता था।

राजस्व आसूचना निदेशालय (डीआरआई) की वाराणसी यूनिट को बड़ी कामयाबी हाथ लगी है। मुखबिर की सूचना पर कार्रवाई करते हुए डीआरआई की टीम ने राजातालाब के पास से ट्रक से 38. 5 कुंतल गांजा बरामद किया है। इसके साथ ही डीआरआई के हाथ दो तस्कर भी लगे हैं। बताया जा रहा है कि पकड़े गए गांजे की कुल कीमत लगभग 5 करोड़ 75 लाख रुपये है। गांजे की खेप जौनपुर के मुंगरा बादशाहपुर जा रही थी।

जानकारी देते हुए डीआरआई के सीनियर इंटेलिजेंस ऑफिसर ने बताया कि गांजे को ट्रक में छुपा कर पशु आहार के बोरियों के नीचे रखा हुआ था। पकड़े गए तस्करों का संबंध उड़ीसा, आंध्र प्रदेश के नक्सल एरिया में रहने वाले गांजा के तस्करों से है ,जो पूरे देश में गांजे की सप्लाई करते हैं और इससे कमाए हुए पैसे को नक्सल की गतिविधियों में इस्तेमाल किया जाता है। पकड़े गए अभियुक्तों से जानकारी मिलने के बाद जौनपुर के रहने वाले गांजा तस्करों की खोजबीन भी शुरू कर दी गई है। अधिकारी ने बताया कि इस पूरे मामले में इलाहाबाद और जौनपुर के कुछ सफेदपोश लोगों के भी हाथ है।

Most Popular

To Top