BHU के छात्रों का थम नहीं रहा विवाद, CCTV में कैद हुई मारपीट की घटना

0
23

वाराणसी। महामना की बगिया एकबार फिर से छात्रों के गुस्से से सुलग उठी है। बीते मंगलवार की रात दवा दुकानदारों और छात्रों के साथ कहासुनी के बाद से ही मामले ने तूल पकड़ लिया, जिसके बाद से ही परिसर का पूरा माहौल गरमा गया है। इसी कड़ी में आज फिर छात्रों का उग्र रूप देखने को मिला। वहीं छात्रों के इस हंगामे के कारण अस्पताल में आने वाले मरीजों और तीमारदारों को काफी समस्या का सामना करना पड़ रहा है। हालांकि मौके पर एसपी सिटी दिनेश सिंह समेत भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है। 

क्या है पूरा मामला 
दरअसल काशी हिंदू विश्वविद्यालय के छात्रों और मेडिकल दुकानदारों के बीच दवा के दाम कम करने को लेकर कहासुनी हो गयी। मामला इतना ज्यादा बढ़ गया कि छात्रों और दुकानदार के बीच हाथपाई होने लगी। देखते-देखते मामले ने तूल पकड़ लिया और बवाल हद से ज्यादा बढ़ गया। छात्रों का आरोप है कि एक दवा दुकानदार सुबह से ही छात्रों के साथ दुर्व्यवहार कर रहा था। इसको लेकर ही छात्रों और दुकानदार के बीच हाथपाई हो गई। जिसके बाद लंका पर छात्रों ने हंगामा शुरू कर दिया। मंगलवार की रात से ही बीएचयू के सिंहद्वार पर छात्रों का जमावड़ा लगा हुआ है, जिसको देखते हुए वहां भरी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात है। सीसीटीवी फुटेज में 12- 13 की संख्या में छात्रों का गुट मेडिकल दुकान में जाकर काउंटर से पैसे निकालता है, जिसके बाद सभी वहां से भागते हैं, वहीं भागते हुए एक छात्र की पिटाई  करते लोग दिखाई दे रहे हैं।

मरीजों को हो रही परेशानी 
इस घटना के बाद से ही छात्रों ने जहां सिंहद्वार के बाहर प्रदर्शन शुरू कर दिया है, जिसके बाद से इलाज के लिए आ रहे मरीजों और उनके तीमारदारों को काफी दिक्क्तों का सामना करना पड़ रहा है। बीती रात के बाद से लंका स्थित सभी मेडिकल की दुकानें बंद हैं, जिसके कारण अस्पताल में इलाज करा रहे मरीजों को काफी परेशानी हो रही है। गेट के पास भारी संख्या में पुलिस बल को देखकर भी लोगों में एक डर बना हुआ है।

प्रशासन है मुस्तैद 
बीते मंगलवार से ही इस घटना के बाद बीएचयू परिसर के पास भरी संख्या में पुलिस बल तैनात हैं। खुद एसपी सिटी दिनेश सिंह पुलिस फोर्स के साथ खुद वहां मौजूद हैं। एसपी सिटी दिनेश सिंह ने बताया कि छात्रों को समझा बुझाकर फिलहाल मामला शांत कराया गया है। फ़िलहाल अभी लंका का माहौल शांत है। पुलिस हर स्थिति से निपटने के लिए  तैयार है।