अपना प्रदेश

शिक्षा के मंदिर में गरीब बच्चों के साथ हो रहा भेदभाव, रोकने में असमर्थ प्रशासन

 

बलिया। यूपी में मिड डे मील में हो रही लगातार खामियां थमने का नाम नहीं ले रही है। ऐसा ही एक मामला जिले में देखने को मिला है, जहां गरीब बच्चों के साथ खाना खाने को लेकर भेदभाव सामने आया है।

मामला शिक्षा क्षेत्र नगर के प्राथमिक विद्यालय रामपुर नंबर एक का है, जहां सामान्य और पिछड़ी जाति के बच्चे गरीब बच्चों के साथ भोजन नहीं करते है। साथ ही मिड डे मील में मिलने वाली थाली में भी नहीं खाते है। बल्कि वे अपने घर से थाली लेकर आते है। गरीब बच्चों को सामान्य और पिछड़ी जाति के बच्चों से अलग बैठकर भोजन करना पड़ता है।

वहीं स्कूल के प्रधानाध्यापक का कहना है कि बच्चे थोड़ा बहुत भेदभाव रखते हैं, जिसकी वजह से वे गरीब बच्चों के साथ नहीं खाते है। साथ ही कुछ बच्चे थाली घर से लेकर आते हैं। जब इस मामले से जिलाधिकारी को अवगत कराया गया तो उनका कहना था कि मामले की जांच कराई जाएगी। इसमें जो भी दोषी पाया जाएगा उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

बच्चों के लिए पहली पाठशाला उनका घर और दूसरी पाठशाला ​स्कूल माना जाता है, जहां वो अपने घर से भी अधिक समय देते हैं। ऐसे में स्कूल प्रशासन की यह जिम्मेदारी होती है कि वह बच्चों में भेदभाव या छूआछत जैसी समाजिक कुरीतियों को न पनपने दें, लेकिन यहां स्थिति विपरीत है। हालांकि स्कूल प्रबंधन इस बात को स्वीकार्य जरूर कर रहा है कि वह ऐसा न होने देने के लिए प्रयास करता है,लेकिन कहीं न कहीं उनके प्रयासों में खामियां दिखाई पड़ रही है। शायद तभी यहां स्थिति बदलने का नाम नहीं ले रही है।

Click to comment

You must be logged in to post a comment Login

Leave a Reply

Most Popular

To Top